पाकिस्तान ने आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के मुखिया हाफिज सईद को नजरबंद किया हुआ है। लेकिन उससे वहां होने वाली आतंकी गतिविधियो में कोई खास बदलाव नहीं आया है। इंडियन एक्सप्रेस को जानकारी मिली है कि पाकिस्तान में पहले कि ही तरह आतंक को बढ़ावा देने का काम जारी है। लेकिन पाकिस्तान इस बात को लेकर डरा भी हुआ है कि कहीं यूएस की तरफ से उसको मिलने वाली आर्थिक मदद रोक ना दी जाए। इसलिए अब पाकिस्तान अपने काम के तरीके में बड़ा बदलाव ला रहा है। खबर है कि जैश ए मोहम्मद पर बैन के डर से पाकिस्तान उसके जैसा एक नया संगठन बनाने की तैयारी शुरू कर चुका है।

सबसे ज्यादा खतरे की बात यह है कि पाकिस्तान ने कश्मीर में अपनी जड़ें मजबूत करना शुरू कर दिया है। ऐसे में पाकिस्तान की तरफ से कश्मीर के कम उम्र के बच्चों को निशाना बनाया जा रहा है। इनमें ज्यादातर वो युवा शामिल हैं जो घाटी के गांवों में रहते हैं और सेना पर पत्थर फेंककर अपना विरोध दर्ज करवाते हैं। पाकिस्तान उन कश्मीरी युवाओं को लेकर भारत के खिलाफ लड़ाई के लिए एक आर्मी तैयार करना चाहता है। पाकिस्तान का यह प्लान अभी शुरुआती स्तर पर है। अभी वह कश्मीर के युवाओं को भटका कर अपने साथ मिलाने की कोशिश में है। अगले चरण में उन लोगों को हथियार और बाकी सामान के लिए पैसे का इंतजाम किया जाएगा।

पाकिस्तान जैश ए मोहम्मद जैसा एक और संगठन खड़ा करना चाहता है

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-