वरिष्ठ राजनयिक तहमीना जांजुआ को आज पाकिस्तान का विदेश सचिव नियुक्त किया गया। पाकिस्तान में इस महत्वपूर्ण पद पर बैठने वाली वह पहली महिला हैं। विदेश कार्यालय ने कहा कि तहमीना निवर्तमान विदेश सचिव एजाज अहमद चौधरी का स्थान लेंगी। विदेश विभाग ने कहा,  तहमीना जांजुआ मार्च, 2017 के पहले सप्ताह में विदेश सचिव का पदभार संभालेंगी। मीडिया में आई पहले की खबरों के अनुसार भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित इस पद की दावेदारी में सबसे आगे चल रहे थे। तहमीना जिनिवा में संयुक्त राष्ट्र में स्थानीय प्रतिनिधि और राजदूत के तौर पर सेवा दे रही हैं।

विदेश विभाग ने कहा कि वह संजीदा राजनयिक हैं और उनके पास 32 साल से अधिक का अनुभव है। उन्होंने इस्लामाबाद स्थित कायद-ए-आजम विश्वविद्यालय और न्यू यॉर्क स्थित कोलंबिया विश्वविद्यालय से मास्टर डिग्री हासिल की। तहमीना दिसंबर, 2011 से अक्तूबर, 2015 तक इटली में पाकिस्तान की राजदूत रहीं। साल 2011 में वह पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता भी रहीं। भारत में चोकिला अय्यर, निरुपमा राव और सुजाता सिंह विदेश सचिव के पद पर नियुक्त हैं।

याद दिला दें कि 2014 में पाकिस्तानी विदेश सचिवों की बैठक से पहले पाकिस्तानी राजदूत अब्दुल बासित ने कश्मीरी अलगाववादी नेताओं को बुलाकर उनके साथ बैठक की थी, जिससे भारत भड़क गया था। इसके बाद नरेंद्र मोदी सरकार ने पाकिस्तान के साथ वार्ता बंद कर दी थी और कई कोशिशों के बावजूद अब तक दोनों पड़ोसी देशों के बीच बातचीत का कोई माध्यम नहीं बन पाया है।

पाकिस्तान के इतिहास में पहली बार महिला विदेश सचिव

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-