parrikar 11 11 2016

भारत-पाक के रिश्तों में बढ़े तनाव के चलते पाकिस्‍तान लगातार परमाणु बमों के इस्‍तेमाल की धमकी देता रहा है लेकिन भारत ने हर बार कहा है कि हम पहले परमाणु बमों का उपयोग नहीं करेंगे।

इस बीच देश के रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कुछ ऐसा बयान दिया है जिसे लेकर विवाद पैदा हो गया है। पर्रिकर ने कहा है कि वह निजी तौर पर मानते हैं कि भारत को परमाणु हथियारों के पहले इस्ते़माल नहीं करने संबंधी नीति से अपने को नहीं ‘बांधना’ चाहिए।

एक पुस्‍तक के विमोचन कार्यक्रम में हिस्‍सा लेने पहुंचे रक्षा मंत्री ने कहा कि ‘अगर पहले से तैयार रणनीति का पालन किया जाए या आप परमाणु मुद्दे पर किसी रुख पर कायम रहते हैं तो मुझे लगता है कि आप परमाणु हथियारों के मामले में अपनी शक्ति को खो रहे हैं। लोग कहते हैं कि भारत, पहले परमाणु हथियार का इस्तेमाल नहीं करने के विचार को मानता है। मुझे इस विचार से खुद को क्यों बांधे रखना चाहिए। इसके बदले मुझे यह कहना चाहिए कि हमारा देश एक जिम्मेदार परमाणु ताकत है और मैं गैरजिम्मेदाराना तरीके से इसका इस्तेमाल नहीं करूंगा। ऐसा मेरा मानना है।’

उन्होंने आगे कहा कि ‘कुछ लोग कहते हैं कि भारत की परमाणु नीति में बदलाव आ गया है, लेकिन किसी भी सरकार के दौरान इस नीति में बदलाव नहीं आया है। जिस दिन सर्जिकल स्ट्राइक हुआ उसके बाद से इस तरह की कोई धमकी नहीं आई है।’

उनके इस बयान के बाद जहां विपक्ष उनको निशाना बनाने की तैयारी में है वहीं खबर है कि रक्षा मंत्रालय ने खुद इस बयान से अलग कर लिया है।

परमाणु हथियारों को लेकर रक्षा मंत्री ने दिया विवादि‍त बयान

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-