dnd-flyway 26 10 2016

एनसीआर में रहने वाले लोगों को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बुधवार को बड़ा दिवाली गिफ्ट दिया है। यहां दिल्ली और नोएडा को जोड़ने वाले डीएनडी फ्लाइओवर पर अब टोल टैक्स नहीं लगेगा। हाईकोर्ट ने कहा कि टोल टैक्स की वसूली तत्काल प्रभाव से रोक दी जाए। यमुना नदी पर बना यह फ्लाइओवर नोएडा और दिल्ली को जोड़ता है।

यहां लंबे समय से इस डीएनडी फ्लाइओवर को टोल फ्री करने की मांग की जा रही थी। इस मांग को लेकर कई संगठनों ने आंदोलन भी किया था। कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई पूरी होने के बाद आठ अगस्त को अपने फैसले को सुरक्षित रख लिया था।

इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस अरुण टंडन और जस्टिस सुनीता अग्रवाल की बेंच ने बुधवार को यह फैसला सुनाया। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इस मामले में इस बेंच में रोज सुनवाई हो रही थी।

गौरतलब है कि सुनवाई के दौरान भी जजों ने कहा था कि नोएडा अथॉरिटी और टोल ब्रिज कंपनी के बीच हुए करार का खामियाजा जनता को कतई नहीं भुगतने दे सकते हैं। कोर्ट ने यह भी कहा था कि ओवरब्रिज की लागत से ज्यादा वसूली होने के बाद दिल्ली-एनसीआर से लोगों के टैक्स की वसूली करना गलत है।

यहां दो पहिया वाहनों के गुजरने पर 12 रुपए और चार पहिया वाहनों के निकलने पर 28 रुपए टोल टैक्स कंपनी द्वारा वसूला जाता था।

गौरतलब है कि डीएनडी फ्लाइओवर करीब नौ किलोमीटर लंबा है। इस पर लगने वाले टोल टैक्स के विरोध में नोएडा रेजिडेंट वेलफेअर एसोसिएशन ने 2012 हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी।

एसोसिएशन के वकील ने बताया कि जस्टिस अरुण टंडन और जस्टिस सुनीता अग्रवाल की पीठ ने इस याचिका पर अपना अंतिम फैसला सुनाया। वर्ष 2001 में डीएनडी पर वाहनों का संचालन शुरू हुआ था।

वहीं टोल ब्रिज कंपनी के डायरेक्टर मोनिशा मेकेडो ने कहा कि कंपनी ने निर्माण लागत पूरी तरह से वसूल नहीं की है, इसलिए नोएडा अथॉरिटी के साथ इस करार को 2031 तक के लिए बढ़ा दिया गया था। गौरतलब है कि फ्लाइओवर 400 करोड़ रुपए की लागत से बना है और कंपनी अब तक 801.06 करोड़ रुपए वसूल चुकी है।

नोएडा-दिल्‍ली डीएनडी फ्लाई ओवर हुआ टोल फ्री

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-