ias-ajay-gangwar_1464674028

फेसबुक पोस्ट पर पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की तारीफ करना मध्यप्रदेश के एक आईएएस अधिकारी को इतना महंगा पड़ गया है कि उन्हें अब जवाब देना मुश्किल हो गया है। सरकार ने पहले उनका ट्रांसफर किया और अब उन्हें नोटिस थमाकर जवाब मांग लिया गया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार मध्यप्रदेश सरकार ने आईएएस अधिकारी अजय गंगवार को फेसबुक पोस्ट पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विरुद्ध टिप्पणी करने के आरोप में नोटिस भेजकर एक हफ्ते में जवाब मांगा है।

बता दें कि इससे पहले ही बीती 26 मई को गंगवार का ट्रांसफर बरवानी के कलेक्टर पद से सचिवालय में कर दिया गया था। यह सारा विवाद उस समय शुरू हुआ जब गंगावार ने अपनी एक फेसबुक पोस्‍ट पर पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू की तारीफ कर दी थी।

आरोप था कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आलोचना वाली एक पोस्ट को लाइक भी किया था। सरकार ने गंगवार के इस कृत्य को अभिव्यक्ति की आजादी का गंभीर अतिक्रमण माना था। मामले को लेकर कांग्रेस नेताओं के एक प्रति‌निधिमंडल ने राज्य के मुख्य सचिव एंटोनी डीसा से मुलाकात की और अधिकारी के खिलाफ की गई कार्रवाई को वापस लेने की मांग की।

कांग्रेस एमएलए जीतू पटवारी ने कहा सरकार नौकरशाही को बंधक बनाने का प्रयास कर रही है। वहीं मुख्य सचिव का कहना है कि सरकार मामले में नियमों के अनुरूप ही कार्य कर रही है। सरकार की इस कार्रवाई में कोई पूर्वाग्रह नहीं है।

नेहरू की तारीफ करने वाले IAS का पहले ट्रांसफर अब नोटिस

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-