netaji_

नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जीवन के बारे में गोपनीय फाइलें सार्वजनिक करने के बाद मोदी सरकार अब दूसरे देशों से भी नेताजी से जुड़ी फाइलों को उजागर कराने में जुट गई है। इसी सिलसिले में सरकार ने जापान, जर्मनी, रूस और ब्रिटेन सहित कई देशों से नेताजी से जुड़ी फाइलें मांगी हैं। इस बीच, जापान ने इस साल के अंत तक नेताजी से जुड़ी दो फाइलें सार्वजनिक करने का आश्वासन भारत को दिया है।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने मंगलवार को लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान बताया, जापान सरकार ने कहा है कि उसके पास नेताजी से जुड़ी पांच फाइलें हैं। इनमें से दो को जापान इस साल के अंत तक सार्वजनिक करेगा जबकि तीन अन्य के बारे में उसने कोई प्रतिबद्धता व्यक्त नहीं की है।

जापान की फाइलें नेताजी के जीवन के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य उजागर कर सकती हैं। गृह राज्य मंत्री ने बताया कि भारत ने कई देशों से नेताजी के जीवन से जुड़ी फाइलों के बारे में पूछा था। आस्ट्रिया, रूस और अमेरिका ने कहा है कि उनके यहां ऐसी कोई फाइल नहीं है। वहीं, ब्रिटेन ने स्वीकार किया है कि उसके यहां नेताजी से जुड़ी 62 फाइलें हैं। जर्मनी का भी कहना है कि उन्होंने नेताजी के बारे में सभी फाइलें सार्वजनिक कर दी हैं।

रिजिजू ने कहा कि जहां तक देश में नेताजी के बारे में गोपनीय फाइलों का सवाल है तो दो फाइलें ऐसी हैं जिनका अभी तक पता नहीं चला है। इनमें से एक फाइल नेताजी की अस्थियां वापस लाने तथा दिल्ली में लालकिले के सामने उनका स्मारक बनाने से संबंधित है। यह फाइल प्रधानमंत्री कार्यालय की थी, लेकिन अब इसका पता नहीं है।

इसी तरह दूसरी फाइल भी टोक्यो के रिंकोजी मंदिर में रखीं नेताजी की अस्थियां वापस लाने से संबंधित थी। यह फाइल केंद्रीय गृह मंत्रालय की थी। अब यह फाइल कहां है इस बारे में भी कुछ पता नहीं है। मंत्री ने कहा कि सरकार अब तक डेढ़ सौ फाइलें सार्वजनिक कर चुकी है। इसके अलावा हर महीने 25 फाइलें ऑनलाइन अपलोड की जा रही हैं।

नेताजी पर दो फाइलें सार्वजनिक करेगा जापान

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-