netaji-subhash-chandra-bose_1458112365

आजादी की लड़ाई में योगदान के तौर पर सुदूर पूर्व में भारतीयों ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस को ‘काफी मात्रा में सोना और खजाना’ दिया था।

बुधवार को नेताजी से संबंधित 25 नए दस्तावेजों को सार्वजनिक किए जाने से यह खुलासा हुआ। 1951 के विदेश मंत्रालय के एक नोट में आईएनए खजाने के बारे में कहा गया कि इसका एक हिस्सा साइगॉन से टोक्यो जाते समय नेताजी के साथ उसी विमान में था, जो दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। खजाने का बाकी हिस्सा साइगॉन में ही रह गया था।

साइगॉन, दक्षिणी वियतनाम का एक शहर है जो वियतनाम युद्ध के दौरान निर्णायक भूमिका के लिए जाना जाता है।

दस्तावेज के मुताबिक, ‘सुदूर पूर्व में भारतीयों ने नेताजी को काफी मात्रा में सोना और खजाना दिया था। दुर्घटनाग्रस्त विमान से लकड़ी के दो बक्सों में 7.90 किग्रा (बक्से सहित वजन) शुद्ध सोना बरामद किया गया था।

माना जाता है कि इसी विमान से नेताजी सफर कर रहे थे।’ दस्तावेज से पता चला है कि दुर्घटनाग्रस्त विमान से ही 3.10 किग्रा सोना (पिघले लोहे के साथ) बरामद हुआ था।

केंद्रीय सांस्कृतिक सचिव एनके सिन्हा ने बुधवार को बोस से संबंधित ये दस्तावेज जारी किए। 70 साल पहले नेताजी के गायब होने का रहस्य आज भी अनसुलझा है।

 

 

नेताजी को बड़ी मात्रा में भारतीयों ने सोना दिया था

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-