मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शराब पर पाबंदी को लेकर सक्रिय हो गए हैं। स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को एक बड़ा अभियान शुरू किया और नर्मदा किनारे 5 किलोमीटर के दायरे में चल रही सभी शराब दुकानों को बंद करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पिछले कुछ समय से पूरे प्रदेश में शराब के मुद्दे पर रैलियां कर रहे हैं। माना जा रहा है कि मध्य प्रदेश शराबबंदी को लागू करने वाला तीसरा राज्य हो सकता है। राज्य सरकार को शराब पर आबकारी कर के जरिए 7300 करोड़ सालाना मिलते हैं।

‘नर्मदा सेवा यात्रा’ मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी ‘नमामि देवी नर्मदे प्रोजेक्ट’ का अहम हिस्सा है। शिवराज ने कहा कि शराब से फैलने वाली सामाजिक बुराइयों को देखते हुए ‘मैंने नर्मदा किनारे स्थित सभी शराब दुकानों को बंद करने का निर्णय लिया है, चाहे वो बेदगत, बुधनी या होशंगाबाद हो।’ मुख्यमंत्री के निर्णय से उपस्थित सभी लोग चौंक गए, हालांकि महिलाओं ने जोरदार हर्षध्वनि से मुख्यमंत्री के फैसले का स्वागत किया।

नर्मदा किनारे 5 किमी के दायरे में नहीं मिलेगी शराब

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-