ms_dhoni_15_15_10_2016

भारतीय कप्तान महेंद्रसिंह धोनी के पास धर्मशाला में रविवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले पहले वन-डे में इतिहास रचने का मौका रहेगा। यदि टीम इंडिया यह मैच जीतती है तो एलन बॉर्डर को पीछे छोड़कर धोनी वन-डे क्रिकेट इतिहास के दूसरे सबसे सफल कप्तान बन जाएंगे।

अभी धोनी संयुक्त रूप से बॉर्डर के साथ दूसरे स्थान पर हैं। इन दोनों के नेतृत्व में टीमों ने 107-107 मैच जीते हैं। ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग 165 जीत के साथ पहले स्थान पर है और उनका रिकॉर्ड टूटना असंभव लग रहा है। धोनी ने 2007 से अभी तक 194 वन-डे मैचों में टीम इंडिया का नेतृत्व किया और टीम ने इनमें से 107 मैचों में जीत दर्ज की। टीम इंडिया को उनके नेतृत्व में 72 मैचों में हार का सामना करना पड़ा जबकि 4 मैच टाई रहे और 11 मैचों का परिणाम नहीं निकल पाया।

एलन बॉर्डर ने 1985 से 1994 के बीच 178 वन-डे मैचों में ऑस्ट्रेलिया का नेतृत्व किया, इनमें से 107 मैचों में टीम ने जीत दर्ज की जबकि 67 मैचों में टीम को हार का सामना करना पड़ा। रिकी पोंटिंग ने 230 मैचों में ऑस्ट्रेलिया की कमान संभाली थी, इनमें से 165 मैचों में टीम ने जीत दर्ज की जबकि उसे मात्र 51 मैचों में हार का सामना करना पड़ा। इस तरह पोंटिंग के नेतृत्व में टीम की सफलता का प्रतिशत काबिलेतारीफ ढंग से 76.14 रहा।

 

धर्मशाला वन-डे में धोनी के पास इतिहास रचने का मौका

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-