modi-90_1479872616

नोटबंदी के खिलाफ अपोजिशन का विरोध जारी है। वहीं, नरेंद्र मोदी ने कहा, ”देश में मूल्यों का पतन तेजी से हो रहा है। ये दुर्भाग्य है कि आज सार्वजनिक जीवन में लोग करप्शन, ब्लैक मनी के पक्ष में खुलकर मैदान में उतर रहे हैं।” बता दें कि ममता बनर्जी, अरविंद केजरीवाल, राहुल गांधी जैसे नेता नोटबंदी का विरोध कर रहे हैं। मोदी ने और क्या कहा…

– दिल्ली में एक प्रोग्राम के दौरान पीएम ने कहा, ”लोगों को करप्शन के खिलाफ व्यक्तिगत जीवन में कुछ सहन करना पड़ता था तो करते थे। लेकिन कहते थे- मैं पैसा नहीं दूंगा।”

– ”फिर वक्त बदला। लोग कहने लगे कहां दुनिया को सुधारने जाएंगे, पैसा लो, मेरा काम करो।”
– ”मूल्यों में गिरावट आने लगी। वक्त बदला, तब करप्शन मुद्दा ही नहीं रहा।”
– ”मैं देख रहा हूं दुर्भाग्य कि आज ये हिम्मत हुई कि सार्वजनिक जीवन में लोग करप्शन, ब्लैक मनि के पक्ष में खुलेआम मैदान में उतर रहे हैं। किसी भी देश के लिए मूल्यों का पतन सबसे बड़ा संकट होता है।”
– ”जो आज 80 साल के होंगे, उनके जमाने में भी एक-दो चोरी करते थे। पर छुप-छुप के। ऐसा करने वाला एक मोरल प्रेशर में जीता था।”
– ”धीरे-धीरे वक्त बदला। फिर चोर हाथ में लिखकर जाने लगे। वह एग्जाम में मजबूरन चोरी कर लेता था, लेकिन फिर भी चाहता था कि किसी को पता न चले।”
– ”वक्त इतना बदलता गया और अब ऐसा करने वाले लोग टेबल पर छुरा रखते हैं और खुलेआम चोरी करते हैं।”
– ”ये जो मूल्यों का पतन है ये इस देश का दुर्भाग्य है। इस मानसिकता के खिलाफ खड़ा होना पड़ेगा। लड़ना पड़ेगा।”

मोदी ने देशभर में भेजे 89 आईएएस अफसर

– नोटबंदी के बाद हालात जानने के लिए पीएम मोदी ने 89 आईएएस अफसरों को देशभर में भेजा है।

– अफसरों ने मंगलवार को खुद को आबंटित राज्यों में पहुंचकर लोगों से बातचीत शुरू कर दी। उनका काम बुधवार को भी जारी रहेगा।

– इसके बाद सभी अफसर वित्त मंत्रालय को रिपोर्ट देंगे। सबकी रिपोर्ट मिलाकर 28 नवंबर को पीएम को सौंपी जाएगी।

 

दुर्भाग्य है कि कुछ लोग ब्लैकमनी के पक्ष में मैदान में उतरने की हिम्मत कर पा रहेः मोदी

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-