अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार (1 फरवरी) को कहा कि सात मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों को अमेरिका की यात्रा से रोकने के उनके फैसले का मकसद बुरे लोगोंको अमेरिका से बाहर रखना है। ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘हर कोई दलील दे रहा है कि यह प्रतिबंध है या नहीं। आप जो चाहते हैं वो कहिए, लेकिन यह बुरे लोगो को अमेरिका से बाहर रखने के लिए किया गया है।इससे पहले व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने इस बात को खारिज कर दिया कि ट्रंप ने प्रतिबंध लगाया है। वैसे, ट्रंप और स्पाइसर दोनों ने हाल ही में जारी कार्यकारी आदेश को प्रतिबंध बताया था। ट्रंप के विवादित कार्यकारी आदेश के अनुसार ईरान, इराक, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन के लोगों के अमेरिका में दाखिल होने पर रोक रहेगी।

 इससे पहले सात मुस्लिम बहुल देशों के लोगों के अमेरिका में प्रवेश पर प्रतिबंध के शासकीय आदेश का बचाव करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जोर देकर कहा था कि यह प्रतिबंध मुस्लिमों पर नहीं हैजैसा कि मीडिया द्वारा गलत प्रचार किया जा रहा है। ट्रंप ने कहा अमेरिका जब आश्वस्त हो जाएगा कि अगले 90 दिनों में यहां सर्वाधिक सुरक्षित नीतियां लागू हो चुकी हैं और उनकी समीक्षा की जा चुकी है तब सभी देशों के लोगों के लिए वीजा फिर से जारी किए जाने लगेंगे।

डोनाल्ड ट्रंप बना रहे हैं ‘रेडिकल इस्लाम नियंत्रण विभाग’

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-