murder case registered against du professon in Chattishgarh

छत्तीसगढ़ पुलिस ने हत्या के शक में दिल्ली विश्वविद्यालय की एक प्रोफेसर के खिलाफ केस दर्ज किया है। प्रोफेसर का नाम नंदिनी सुंदर है और उनके साथ 10 अन्य का नाम भी रिपोर्ट में शामिल है। खबर के मुताबिक सुकमा जिले में माओवादियों ने शनिवार को आदिवासी शामनाथ भगेल का कत्ल कर दिया था। सूत्रों के मुताबिक जांच में पुलिस को प्रोफेसर नंदिनी व दूसरे लोगों के इन माओवादियों से संबंधों की जानकारी मिली है।

पुलिस का कहना है कि मारे गए भगेल की पत्नी ने तोंगपाल पुलिस स्टेशन में सभी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों ने बताया कि नंदिनी व दूसरे लोगों के खिलाफ आईपीसी की धाराएं 120बी, 302, 147, 148, 149 के तहत केस दर्ज किया गया है। बता दें कि भगेल, नामा गांव का रहने वाला था।

भगेल व अन्य गांववासियों  का नंदिनी, जेएनयू प्रोफेसर अर्चना प्रसाद, विनीत तिवारी और छत्तीसगढ़ सीपीआई(एम) के स्टेट सेक्रेटरी संजय पराते और एक अन्य महिला से विवाद चल रहा था। इतना ही नहीं भगेल ने सभी के खिलाफ कथित तौर पर आदिवासियों को उकसाने का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी।

इतना ही नहीं नामा गांव के युवकों और पड़ोसी गांव के लोगों ने माओवादी गतिविधियों के खिलाफ अभियान भी शुरू किया था। बताया जाता है कि हत्या के आरोपों में घिरी नंदिनी व दूसरे लोगों ने माओवादियों के खिलाफ प्रदर्शन करने से मना किया था।

डीयू प्रोफेसर पर आदिवासी युवक की हत्या का आरोप

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-