tips to take care of diabetic feet

डायबिटीज के मरीजों को सबसे ज्यादा अपने पैरों का ख्याल रखने की जरूरत होती है। पंजे पर लगा एक छोटा सा निशान भी उनके लिए घातक साबित हो सकता है। इसके लिए उन्हें बहुत ही सावधान रहना होता है। आइए जानते हैं कि ऐसे में पैरों की देख-रेख करने के लिए आपको क्या करना चाहिए।

पैरों के नाखून बहुत ही सावधानी से काटें क्योंकि नाखून काटते समय ही सबसे ज्यादा कट लगने का चांस होता है। नाखूनों को बहुत छोटा ना कांटे, साथ ही नाखूनों को साइड से काटना शुरू करें और फिर बीच से काटें।डायबिटीज के रोगियों में त्वचा के प्रति संवेदनशीलता का अहसास थोड़ा कम हो जाता है। उन्हें छोटी-मोटी चोट के बारे में पता नहीं लग पाता जिस वजह से आगे चलकर बहुत दिक्कत होती है। इसके लिए जरूरी है कि हर रोज अपने पैरों को चेक करते रहें और चोटों को गंभीरता से लें।

डायबिटीज के मरीजों को कभी भी नंगे पाव नहीं रहना चाहिए। साथ ही हमेशा मोजे पहनने चाहिए। इससे चोट लगने की संभावना कम होती है। अधिकतर डायबिटीज के मरीजों की त्वचा रूखी रहती है जिस वजह से कभी-कभी वहां से खून तक निकल आता है। इसलिए उन्हें समय-समय पर मॉश्चराइजर लगाते रहना चाहिए। अगर आप पैरों और पंजों पर मॉश्चराइजर लगाएंगे तो इससे त्वचा ना तो रूखी होगी, ना फटेगी और ना ही इनसे खून निकलेगा। लेकिन अंगूठे और अंगुलियों के बीच मॉश्चराइजर ना लगाएं। इससे फंगल संक्रमण हो सकता है।

पैरों की देखभाल के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है उनकी सफाई। इसके लिए रोज रात को सोने से पहले गुनगुने पानी में थोड़ी देर पैरों को रखें और साफ करें। इसके बाद तौलिए से अच्छी तरह पैरों को पोछ लें।

डायबिटीज के मरीज हैं तो इस तरह रखें अपने पैरों का ध्यान

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-