अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने लेफ्टिनेंट जेनरल एच आर मैक्मास्टर को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किया है। वे लेफ्टिनेंट जनरल माइकल फ्लिन की जगह लेंगे जिनकी मात्र तीन सप्ताह और तीन दिन बाद छुट्टी कर दी गई थी। उनके ऊपर आरोप लगा कि उन्होंने अपनी नियुक्ति से पहले रूसी राजदूत के साथ बातचीत में अमेरिका प्रतिबंधों पर चर्चा की थी। उनके संक्षिप्त कार्यकाल को लेकर आलोचकों ने कहा कि ये दिखाता है कि ट्रंप प्रशासन के भीतर गड़बड़ है। इसके बाद ट्रंप ने रिटायर्ड वाइस एडमिरल रॉबर्ट हार्वर्ड को इस पद पर बिठाना चाहा मगर उन्होंने ‘निजी कारणों’ का हवाला देकर ये पेशकश ठुकरा दी। जेनरल मैक्मास्टर ने अफगानिस्तान और इराक में काम किया है और बीबीसी के वाशिंगटन संवाददाता अलीम मकबूल के अनुसार उन्हें सोचने-समझनेवाला और खरी-खरी बात करनेवाला रणनीतिकार माना जाता है।

वे ट्रंप प्रशासन में कीथ केलॉग के साथ काम करेंगे जो माइकल फ्लिन के इस्तीफे के बाद से कार्यवाहक सलाहकार थे। दोनों अधिकारियों को संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका के राजदूत जॉन बोल्टन का भी सहयोग मिलेगा। एडमिरल रॉबर्ट हार्वर्ड के प्रस्ताव को ठुकरा देने के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने सप्ताहांत में जेनरल मैक्मास्टर, कीथ केलॉग और जॉन बोल्टन के अतिरिक्त एक और व्यक्ति का इंटरव्यू लिया।

ट्रंप ने मैक्मास्टर को चुना नया राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-