नई दिल्‍ली। अमेरिका के 45वेंं राष्‍ट्रपति के तौर पर डोनाल्‍ड ट्रंप 20 जनवरी को अपना कार्यभार संभालने जा रहे हैं। इस अवसर पर विशेष तौर पर आमंत्रित किए गए भारत के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के शामिल होने की उम्‍मीद है।

इस बात की पुष्‍टि शिकागो के भारतीय मूल के बिजनेस टायकून व ट्रंप ट्रांजिशन टीम के सदस्‍य शलभ कुमार ने की है। उनके अनुसार इस समारोह में डोभाल का आना पुरानी परंपराओं को तोड़ता है क्‍योंकि अब तक ऐसे किसी मौके पर विदेशी अधिकारियों के आने की परंपरा नहीं रही है।

भारत-अमेरिका के बीच संबंधों के लिए नई नीतियों को तैयार करने के उद्देश्‍य से मोदी सरकार के मंत्रियों से मिलने को कुमार दिल्‍ली आए हैं। ट्रंप के कैंपेन के लिए कम्‍युनिटी आर्गेनाइजर कुमार ने बताया, ‘राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डोभाल अपने अमेरिकी समकक्ष माइकल फ्लिन से मिलने हाल में ही अमेरिका गए थे। यह मीटिंग काफी अच्‍छी रही। उम्‍मीद है कि 20 जनवरी के मौके पर अपने अमेरिकी दौरे के दौरान डोभाल कुछ और इवेंट्स में हिस्‍सा लेंगे।‘

परिवहन मंत्री, नीतिन गडकरी से मिलकर कुमार ने ट्रंप के अगले चार वर्षीय शासन काल के अंत तक द्विपक्षीय व्‍यापार को मौजूदा 100 बिलियन डॉलर से बढ़ाकर 300 बिलियन डॉलर तक करने का विचार किया है। बैंकर स्‍टीवन न्‍यूचिन को ट्रंप के ट्रेजरी सेक्रेटरी के लिए चुना गया है।

स्‍टीवन के साथ काम कर रहे कुमार ने आगे बताया, ‘इस दौरे के दौरान मैंने वित्‍त मंत्री अरुण जेटली व वणिज्‍य मंत्री निर्मला सीतारमन से भी मिलने का प्‍लान बनाया है। मैं यह स्‍पष्‍ट कर दूं कि ट्रंप प्रशासन की प्राथमिकता व्‍यापार को बढ़ाने व विस्‍तृत करने की होगी।‘ इससे नौकरियों के मार्ग खुलेंगे।‘

उन्‍होंने आगे बताया कि दिल्‍ली और वाशिंगटन को अपने सुरक्षा सहयोग को मजबूती प्रदान करना होगा। प्रधानमंत्री मोदी व ट्रंप की मुलाकात के बारे में उन्‍होंने बताया कि ट्रंप के राष्‍ट्रपति शासन के पहले वर्ष ही दोनों की मुलाकात होगी और मोदी व ट्रंप के बीच अच्‍छी साझेदारी बनेगी।

ट्रंप की ताजपोशी 20 जनवरी को

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-