arun-jaitly_1467092382

भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्‍यम स्वामी द्वारा वित्त मंत्री अरुण जेटली और उनके सलाहकारों को लगातार निशाना बनाने से बेशक भाजपा असमंजस में है लेकिन विरोधी दल इस पर चटखारे लेने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे। कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने तो इस मुद्दे पर जेटली पर ही निशाना साध दिया है।

इस संबंध में आज सुबह एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा, चीन दौरा छोटा करके जेटली वापस लौट आए और स्वामी पर मोदी से मुलाकात का मांगा वक्त। अगले ट्वीट में दिग्विजय लिखते हैं अरुण जेटली जी आप मोदी जी से क्या शिकायत करेंगे आपको सीमाओं में बांधने के लिए ही तो सुब्रमण्यम स्वामी को मोदी जी संसद में लाए हैं। अपनी कुर्सी बचाइए।

जेटली को सलाह देते हुए दिग्विजय आगे लिखते हैं भाजपा के मार्गदर्शक मंडल के वरिष्ठ नेताओं से मिलकर उनकी शरण में जाइए। दूसरी ओर आज प्रधानमंत्री और जेटली के बीच होने वाली मुलाकात फिलहाल टल गई है। सुबह 11 बजे यह मुलाकात होनी थी लेकिन अज्ञात कारणों से फिलहाल यह टल गई।

 

वहीं दिग्विजय सिंह के अलावा कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा ने इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री मोदी पर भी निशाना साध दिया। आनंद शर्मा ने कहा उम्‍मीद है अगली बार प्रधानमंत्री कुछ जल्दी बोलेंगे और स्थिति स्पष्ट करेंगे। न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में आनंद शर्मा ने कहा भाजपा के अंदरूनी खींचतान पर प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बीच डील हो गई है।

हम उम्‍मीद करते हैं कि आगे से प्रधानमंत्री थोड़ा जल्दी बोला करेंगे। जिससे स्थिति को बिगड़ने से रोका जा सके। आनंद शर्मा ने तंज कसते हुए कहा सुब्रमण्यम स्वामी भाजपा के लिए ऐसा गिफ्ट हैं जो उसने खुद को दिया है।

बता दें कि आरबीआई के गर्वनर रघुराम राजन के बाद सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री मोदी के आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन को निशाने पर ले रखा था। स्वामी ने अरविंद की निष्ठा और योग्यता पर उंगली उठाते हुए उन्हें हटाने की मांग की थी। लेकिन उनका यह दांव भारी पड़ा और ‌वित्त मंत्री जेटली ने अरविंद की काबिलियत पर भरोसा जतातते हुए स्वामी की मांग को खारिज कर दिया था। बाद में पीएम ने भी अरविंद की तरफदारी की थी। वित्त मंत्री अरुण जेटली स्वामी के
लगातार निजी हमलों से काफी नाराज बताए जा रहे हैं, माना जा रहा है कि वह इस संबंध में स्वामी के खिलाफ कार्रवाई चाहते हैं।

‘जेटली को सीमाओं में बांधने के लिए स्वामी को लाए मोदी’

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-