index

नई दिल्ली। मोदी सरकार में शिक्षा मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने मध्यप्रदेश के छिंदवाडा में तिरंगा यात्रा के दौरान कथिततौर पर जवाहरलाल नेहरू और सरदार पटेल को शहीद बता दिया। साथ की कहा कि नेहरू-पटेल आजादी के लिए फांसी पर झूले थे।

जानकारी के मुताबिक, जावड़ेकर अपने भाषण के दौरान शहीदों पर बोल रहे थे। उन्होंने ऐसे शहीदों के नाम भी लिए जिन्हें आजादी की लड़ाई के दौरान फांसी हुई थी। इसी क्रम में वे नेहरू और पटेल के साथ ही सुभाष चंद्र बोस का नाम भी ले गए।

मालूम हो, सरकार नेताजी की मौत पर खामोश है। सरकार पुष्टि नहीं करती कि नेताजी जीवित हैं या नहीं।

कमलनाथ को बुलाने पर कांग्रेस नाराज

इससे पहले छिंदवाड़ा पहुंचे जावड़ेकर ने कहा, वे छिंदवाड़ा जिले के विकास के लिए सबको साथ लेकर चलेंगे। बैठक में कांग्रेस विधायकों की कुर्सी जहां खाली नजर आई, वहीं सांसद कमलनाथ के नाम की टेबल नहीं लगाई गई थी।

गौरतलब है कि पिछले महीने ही सांसद कमलनाथ ने सतर्कता समिति की बैठक ली थी, इसके बाद जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति ‘दिशा’ नाम से बैठक आयोजित करने का फैसला लिया गया था।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर की नजर सरकार की उपलब्धियों पर रही, लेकिन जिले से जुड़े ज्वलंत मुद्दों पर मंत्री ने चुप्पी साध ली। श्री जावड़ेकर ने जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक में बताया कि पहले अलग-अलग विभागों के लिए अलग-अलग समिति होती थी। अब सबको मिलाकर एक समिति बना दी गई है, जिसकी समीक्षा हर दो माह में की जाएगी।

उन्होंने मुख्य रूप से केन्द्र सरकार की योजनाओं का समय पर एवं गुणवत्ता से कार्य करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि लोगों के चेहरे पर खुशी ही अधिकारियों का बोनस है। बैठक में कलेक्टर जेके जैन ने बताया कि मनरेगा में अभी तक 167 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से 57 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं। इसमें रोजगार मानव दिवस 14 लाख 43 हजार रुपये है और 92 प्रतिशत जॉब कार्डधारियों की आधार सीडिंग की जा चुकी है।

दीनदयाल ग्रामीण कौशल योजना की समीक्षा करते हुये केन्द्रीय मंत्री श्री जावड़ेकर ने कहा कि ग्रामीणों को रोजगार से जोड़ने के लिये कौशल उन्नयन की दिशा में कारगर काम हो। शिक्षा सुनिश्चित रूप से मिल रही है या नही, इसके लिये छात्रों से फीडबैक लेने को कहा जिसकी समीक्षा अगली बैठक में की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षित लोगों के लिये रोजगार सुनिश्चित किया जाएं।

जावड़ेकर ने नेहरू-पटेल को बताया शहीद

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-