जयपुर। बच्चों से दुष्कर्म करने का आरेापी ट्यूशन टीचर पढ़ाने में अच्छा था और बढ़िया अंग्रेजी बोलता था, यही कारण था कि उसके पास ट्यूशन पढ़ाने वालों की भीड़ लगती थी। इसी का फायदा उठाकर रमीज नाम का यह ट्यूशन टीचर न सिर्फ बच्चों से दुष्कर्म करता था, बल्कि उन्हें ब्लैकमेल भी करता था। उसे पैसे देने के लिए बच्चों को चोरियां तक करनी पडीं।

रमीज नाम का यह ट्यूशन टीचर जयपुर के मुस्लिम बहुल इलाके में रहता था और इस क्षेत्र में अंग्रेजी बोलने वाला अकेला आदमी था। अंग्रेजी स्कूल में पढ़ा था और पढ़ाने में अच्छा रहा था। यही कारण है कि लोग अपने बच्चों को उसके पास पढ़ने के लिए भेजते थे। आस-पास के लोगों के अनुसार रमीज पड़ोसियों से कम ही मिलता-जुलता था और लोगों को कतई अंदाजा नहीं था कि वह इस तरह का काम भी करता होगा।

पुलिस को उसके घर की तलाशी में बड़ी संख्या में वीडियो क्लिप मिली हैं और अब तक 11 बच्चों से दुष्कर्म की बात सामने आई है, लेकिन पुलिस थानों में केवल दो ही मामले दर्ज हो पाएं हैं। पुलिस अभिभावकों से संपर्क कर रही है, लेकिन बच्चों की बदनामी के डर से अभिभावक रिपोर्ट नहीं करवा रहे हैं।

जांच मे यह भी सामने आया है कि यह बच्चों से वसूली भी करता था और पैसा नहीं देने पर बच्चों को डराता था। इस बात की चर्चा बच्चों में भी थी और उन्हें पैसा देने के लिए चोरियां करने को भी मजबूर करता था। इस बारे में बच्चों ने स्कूल के प्राचार्य सरवर आलम को शिकायत भी की, लेकिन आलम ने स्कूल की बदनामी के डर से पुलिस को सूचना नही दी।

पुलिस ने स्कूल के प्रिंसिपल सरवर आलम को भी गिरफ्तार कर लिया है और उसे पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। पुलिस दोनों से पूछताछ कर रही है।

जयपुर में बच्चों से दुष्कर्म करने वाला ट्यूशन टीचर पढ़ाने में अच्छा था

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-