sachin-tendulkar_1461420237

मास्टर ब्लास्टर जैसा क्रिकेट दिग्गज पूरी दुनिया में नहीं। इस मुकाम में पहुंचने के लिए उन्होंने कड़ा संघर्ष किया। मंगलवार को मुंबई में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए सचिन ने बचपन का एक वाक्या सुनाया, जब उनके पास टैक्सी बुक करने तक के पैसे नहीं थे।

सचिन उस वक्त महज 12 वर्ष के थे। क्रिकेट के प्रति जुनून उनके दिल में बचपन से था। उस वक्त वह मुंबई अंडर-15 टीम का हिस्सा थे। उन्होंने बताया कि वह पुणे तीन मैचों में हिस्सा लेने पहुंचे। लेकिन बारिश के चलते मैच में काफी उतार-चढ़ाव रहा।

सचिन ने बताया कि जब वह बल्लेबाजी करने उतरे तो 4 रन के निजी स्कोर पर रनआउट हो गए। वह बेहद निराश थे और ड्रेसिंगरुम पहुंचकर रोए भी। किसी तरह खुद को संभाला लेकिन लगातार बारिश के चलते उसके बाद उन्हें बल्लेबाजी करने का दूसरा मौका नहीं मिल सका।

सचिन ने आगे बताया कि बारिश के चलते मैच धुल जाने के बाद वह और अन्य साथी काफी निराश थे, इसलिए सभी फिल्म देखने चले गए, फिर सभी ने खाना खाया।

वापसी में ट्रेन से सचिन दादरी स्टेशन पहुंचे। वहां से टैक्सी लेकर घर जाना चाहते थे लेकिन पैसे फिल्म और खाने में ही खत्म हो चुके थे। लिहाजा सचिन को ‌दादरी स्टेशन ने शिवाजी पार्क तक पैदल ही जाना पड़ा। उनके पास दो बैग भी थे।

सचिन ने बताया कि वह पहली बार ऐसी मुश्किल में फंसे थे। अगर फोन होता तो पापा या मां को फोन कर पैसे अकाउंट में ट्रांसफर करा सकते थे, लेकिन किसी तरह बमुश्कल पैदल ही घर पहुंचना पड़ा।

जब सचिन के पास टैक्सी बुक करने के भी नहीं थे पैसे

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-