विस चुनाव 2017 में जिले में पहले चरण में चुनाव प्रचार करने आए स्टार प्रचारकों में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह सबसे ज्यादा महंगे साबित हुए, तो सपा के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव ने सबसे कम खर्चा कराया। रामगोपाल यादव की तीन जनसभाएं 35 हजार में निपट गईं। बसपा सुप्रीमो मायावती की एक रैली में चार लाख रुपये तो सीएम अखिलेश की जनसभा पर साढे़ तीन लाख रुपये खर्च हुए।  जिले में विधानसभा चुनाव में मतदान से दो दिन पहले तक विभिन्न पार्टियों के स्टार प्रचारकों ने जिले में दस्तक दी। केंद्रीय गृहमंत्री की 4 फरवरी को रामलीला मैदान में हुई जनसभा 566212 रुपये की पड़ी। इसमें अकेले भीड़ लाने वाली बसों पर ही 21,5,000 रुपये खर्च हुए। जबकि अन्य खर्चों में हेलीपैड, कुर्सी, मंच समेत तमाम खर्चे शामिल हैं। बसपा सुप्रीमो मायावती की तीन फरवरी को रामलीला मैदान में हुई जनसभा 40,7,122 रुपये में हुई। जिसका जिले के प्रत्येक प्रत्याशी पर एक लाख रुपये का खर्च पड़ा।

वहीं 30 जनवरी को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की जीआईसी ग्राउंड में हुई जनसभा में 3,49,560 रुपये का व्यय किया गया। इसमें कुर्सी, मंच, पोस्टरों पर ज्यादा खर्च हुआ। छह फरवरी को मेहता पार्क में हुई आजम खान की जनसभा पर 95,110 रुपये खर्च किए गए। जनसभा में हेलीपैड का खर्च 35,000 रुपये हए।

जनसभा में सबसे ज्यादा पैसा बहाने वाले नेता

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-