Heartbreaking photos of kolkata's notorious red-light

हमारे देश में देह व्यापार को आज भी कानूनी तौर पर अनुमति नहीं दी गई है। इकके बावजूद भी देश में ऐसे कई रेड लाइट एरिया धड़ले से पैर पसार रहे हैं। ऐसी ही एक जगह है सोनागाछी जहां पैदा होने वाली लड़कियां अभिशाप भुगतने को मजबूर हो जाती हैं। जानिए कैसी होती है इन लड़कियों की दर्दनाक जिंदगी।

कोलकाता में स्थित सोनागाछी एशिया का सबसे बड़ा रेड लाइट एरिया है। लेकिन किसी जमाने में ये जगह सिर्फ नाच गाने के लिए मशहूर थी। लोग अपना मनोरंजन करने यहां आया करते थे। लेकिन वक्त के साथ इस जगह का रुप भी पूरी तरह से बदल गया।

आज इस जगह कई गैंग देह-व्यापार का धंधा चला रहे हैं। इस जगह 18 साल से कम उम्र की करीब 14 हजार लड़कियां सेक्स व्यापार में शामिल हैं। लेकिन यहां पैदा होने वाली बच्चियों की जिंदगी शुरुआत से ही नर्क होती है।

यहां पैदा होने वाली बच्चियों को छोटी उम्र में ही जिस्म की इस मंडी में बेच दिया जाता है या फिर उन्हें कम उम्र में ही देह व्यापार के धंधे में ढकेल दिया जाता है।

12 से 17 साल की उम्र में ये लड़कियां मर्दों के साथ सोने को मजबूर होती हैं। यहां इन्हें किसी मर्द के साथ सोने के 124 रुपए मिलते हैं। लेकिन यहां कोई भी फोटोग्राफर या पत्रकार पैर नहीं रख सकता।

छोटी उम्र में ही लड़कियां बन जाती हैं ‘वेश्या’

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-