नई दिल्ली। मोदी इस वर्ष में पहली बार ‘मन की बात’ की। इसकी इजाजत चुनाव आयोग ने दी है। अपने संबोधन में उन्‍होंने देश के वीर जवानों को सलाम किया। इसके अलावा उन्‍होंने 30 जनवरी के दिन महात्‍मा गांधी पुण्‍यतिथी के मौके पर उन्‍होंने देशवासियों से बापू के सम्‍मान में दो मिनट का मौन रखने की भी अपील की है।

इसके अलावा उन्‍होंने एग्‍जाम देने वाले छात्राओं को कहा कि स्‍माइल मोर, स्‍कोर मोर। इसके अलावा उन्‍होंने तटरक्षक बल के जवानों को भी स्‍थापना दिवस पर बधाई दी, जो कि एक फरवरी को है।

आने वाले दिनों में होने वाले बोर्ड एग्‍जाम के लिए उन्‍होंने छात्राओं को इस चुनौती के लिए तैयार रहने को कहा। उन्‍होंने इसको उमंग और उत्‍साह का पर्व बताया। अपने संबोधन में उन्‍होंने कहा कि इसका दबाव कभी नहीं होना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि जो इसको त्‍योहार मानकर आगे जाएगा वह कुछ पाएगा। छात्राओं को कुछ टिप्‍स देते हुए पूर्व राष्‍ट्रपति एपीजे अब्‍दुल कलाम का भी जिक्र किया। उन्‍होंने कहा कि वह वायु सेना में फाइटर पायलट बनना चाहतेे थे। लेकिन वह उसमें सफल नहीं हो सके। यदि ऐसेे में वह मायूस हो जाते तो देश को इतना बड़ा वैज्ञानिक नहीं मिल पाता।

अपने संबोधन में उन्‍होंने छात्राओं को नकल से सावधान रहने को कहा। उन्‍होंने कहा कि जितना वक्‍त नकल करने या इसके तौर तरीके साीखने में लगाते हैं यदि वह अपनी मेहनत में लगाए तो इससे उनका आत्‍म विश्‍वास भी जगेगा और उन्‍हें आगे बढ़ने में मदद मिलेगी। एग्‍जाम के दौरान भी थोड़ा ब्रेक लेना बेहद जरूरी है।

छात्रों को पीएम ने दिया नया मंत्र – ‘स्माइल मोर-स्कोर मोर’

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-