सुस्त पड़ी कांग्रेस में चुनाव घोषणा के साथ ही तैयारियों में तेजी आ गई है। प्रत्याशियों के टिकटों को फाइनल करने के लिए स्टेट इलेक्शन कमेटी की मैराथन मीटिंग दूसरे दिन भी चली।

शुक्रवार को तीसरे चरण के प्रत्याशियों के नामों पर विचार किया गया। तीसरे चरण में 69 विधानसभा सीटों पर मतदान होना है।

गुरुवार रात 12 बजे तक चली मीटिंग के बाद शुक्रवार को फिर सुबह 10 बजे से मीटिंग शुरू हो गई। इसमें तीसरे चरण में आने वाली विधानसभाओं के प्रत्याशियों के चयन पर चर्चा हुई और हर विधानसभा सीट के लिए एक से चार नामों के पैनल को हरी झंडी दी गई है। अब इन नामों को सेंट्रल स्क्रीनिंग कमेटी के पास भेजा जाएगा।

बैठक में प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर, डॉ. निर्मल खत्री, प्रमोद तिवारी, डॉ. संजय सिंह, प्रदीप माथुर, पीएल पुनिया, जितिन प्रसाद, प्रदीप जैन आदित्य, अन्नू टंडन, चौधरी ब्रिजेंद्र सिंह, भगवती प्रसाद चौधरी, प्रतिमा सिंह और डॉ. प्रमोद पांडेय शामिल हुए।

प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने कहा कि उन्हें किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन की कोई जानकारी नहीं है। पार्टी सभी 403 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारियों में जुटी है। अगले 10 दिनों में उम्मीदवारों की सूची घोषित हो जाएगी। उन्होंने बताया कि तीन चरणों के चुनाव के लिए प्रत्याशियों के नामों पर विचार हो गया है।

केंद्रीय नेतृत्व तय करेगा गठबंधन : प्रदीप माथुर
कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता प्रदीप माथुर कहते हैं कि गठबंधन पर कोई भी फैसला केंद्रीय नेतृत्व ही लेगा। गठबंधन के बारे में कोई जानकारी नहीं है। हम सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। स्टेट इलेक्शन कमेटी की मीटिंग में भी सभी सीटों पर प्रत्याशी तय किए जा रहे हैं।

अब कल होगी अगले चरण की बैठक
स्टेट इलेक्शन कमेटी ने तीन चरणों के चुनाव में 209 सीटों पर पैनल तय कर दिए हैं। अब बचे चार चरणों की सीटों के लिए आठ जनवरी को बैठक होगी। इसमें 194 विधानसभा सीटों के लिए प्रत्याशियों के नामों पर चर्चा होगी।

चुनाव घोषणा के साथ ही बदल गया कांग्रेसी खेमे का माहौल

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-