china-india1_1460966431

बीजिंग. इंडिया-यूएस मिलिट्री लॉजिस्टिक डील की खबरों से चीन भड़क गया है। सोमवार को चीनी मीडिया ने भारत पर जमकर तंज कसा। कहा, ”यह डील दोनों देशों के बीच इसलिए अटक गई, क्योंकि भारत एक ऐसी ‘मोस्ट ब्यूटीफुल वुमन’ बनना चाहता है जिसे खासकर वाॅशिंगटन और बीजिंग लुभाते रहें।” चीन के मीडिया का यह कमेंट ऐसे वक्त आया है, जब डिफेंस मिनिस्टर मनोहर पर्रिकर बीजिंग के दौरे पर हैं। चीनी सरकारी मीडिया ने भारत को लेकर और क्या कहा…

– चीन के सरकारी न्यूजपेपर ग्लोबल टाइम्स ने एक आर्टिकल में लिखा, “एक-दूसरे का भरोसा नहीं करने की ट्रेडिशनल सोच के बावजूद भारत और अमेरिका के बीच रिश्ता बढ़ रहा है। यह दो सुपर पावर देशों के बीच झूलते हुए दोनों का सपोर्ट बनाए रखने की भारत की सोच को दिखाता है।”

– ‘Indo-US strategic distrust stalls LSA signing’ हेडिंग से छपे आर्टिकल में कहा गया, “मूल बात यह है कि भारत सबसे खूबसूरत महिला बने रहना चाहता है, जिसे सभी पुरुष, खासकर दो सबसे मजबूत देश यानी अमेरिका और चीन लुभाएं।”

– “यह भारत के लिए कोई नई बात नहीं है। हम अब भी याद कर सकते है कि अपनी डिप्लोमैटिक चालाकी के कारण किस तरह उसने कोल्ड वॉर के दौरान दो बड़े धड़ों के बीच खास रोल हासिल किया था।”
साउथ सी में भी इंडिया को लेकर कमेंट
– कॉन्ट्रोवर्शियल साउथ सी आइलैंड को लेकर भी इस आर्टिकल में भारत पर कमेंट किया गया है।
– लिखा है,”साउथ चाइना सी को लेकर भारत अमेरिका, जापान और चीन के बीच विवाद का फायदा उठाने की कोशिश में रहता है।”
– ”लेकिन भारत झूलते रहने वाले देश के तौर पर ज्यादा दूर नहीं जा सकता।” (चीन ने आइलैंड में लैंड कराया प्लेन)

अमेरिका-भारत के इस डील पर है चीन को आपत्ति…

– पिछले दिनों यूएस डिफेंस सेक्रेटरी एश्टन कार्टर भारत दौरे पर थे।
– इसी दौरान भारत और अमेरिका प्रिंसिपल ऑफ मिलिट्री लॉजिस्टिक की शेयरिंग को लेकर होने वाले अहम समझौते के और भी करीब पहुंचे।
– डील के तहत दोनों देश मिलिट्री सर्विसेस के लिए एक दूसरे की जमीन, एयर और नेवल बेस का यूज कर सकते हैं।
चीन को क्यों है एतराज

– मोदी सरकार ने इंडियन ओशन और साउथ चाइना सी में बढ़ रही चीन की हरकतों को देखते हुए एग्रीमेंट को लेकर पॉजिटिव रिस्पाॅन्स दिया है।
– चीन भी पाकिस्तान का करीबी बन चुका है। ऐसे में, यह एग्रीमेंट काफी अहम होगा।
– समुद्र में चीन के बढ़ते कदम को रोकने के लिए यह डील अहम है।
– अमेरिकी डिफेंस एडमिनिस्ट्रेशन पहले ही यह साफ कर चुका है कि वह भारत से मिलिट्री रिलेशन चाहता है, ताकि चीन को कंट्रोल में रखा जा सके।

चीनी फॉरेन मिनिस्टर सुषमा ने उठाया अजहर का मुद्दा

– इस बीच, सुषमा स्वराज ने चीन के सामने जैश-ए-मुहम्मद के मुखिया और पठानकोट आतंकी हमले के मास्टरमाइंड मसूद अजहर का मुद्दा उठाया है।
– यूएन में अजहर को आतंकी करार देने की प्रॉसेस में चीन बीच में आ गया था और वीटो का इस्तेमाल कर उसे बचा लिया था।
– स्वराज ने रूस, भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की मीटिंग से पहले चीनी फॉरेन मिनिस्टर वांग के सामने यह मुद्दा उठाया।

 

चीनी मीडिया ने इंडिया को बताया ‘मोस्ट ब्यूटीफुल वुमन’, इसलिए कसा ये तंज

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-