us-navy-ammunation_08_11_2016

वॉशिंगटन। अमेरिकी नौसेना ने एक जबरदस्त क्षमता वाली नई बंदूक बनाई है। इससे 70 मील (112 किमी) से अधिक की दूरी पर स्थित लक्ष्य को सटीक तरीके से मार गिराया जा सकता है। मगर, वह चाह कर भी इसके गोले को नहीं दाग सकती है।

कारण इसके एक गोले की कीमत 10 लाख डॉलर है। हाल ही में अमेरिकी नौसेना ने अपने सबसे उन्नत युद्धपोत USS Zumwalt (DDG-1000) को कमीशन्ड किया है। मगर, सर्विस का कहना है कि वह शिप के एडवांस गन सिस्टम में प्रयोग होने वाले गाइडेड प्रीसिसन म्यूनिटिअन्स (जिसे लॉन्ग रेंज लैंड अटैक प्रोजेक्टाइल भी कहा जाता है) को और नहीं खरीदेगा।

लॉकहीड मार्टिन के अनुसार, नौसेना के इतिहास में 155mm का राउंड सबसे सटीक और सबसे लंबी दूरी तक मार करने वाली गाइडेड प्रोजेक्टाइल है। USNI के सैम लैग्रोन ने बताया कि यह सबसे महंगे हथियारों में से एक है। इसके एक राउंड की कीमत आठ लाख डॉलर से लेकर 10 लाख डॉलर के बीच है।

यदि नौसेना अपनी योजना के अनुसार 2,000 राउंड खरीदती है, तो उसे करीब दो अरब डॉलर कीमत चुकानी होगी। नौसेना ने जब पहले एडवांस जुमवाल्ट श्रेणी के विध्वंसक पोत का निर्माण शुरू किया था, तो उसे इस हद तक बड़ी लागत की उम्मीद नहीं थी।

चाह कर भी गोले को नहीं दाग सकती नौसेना

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-