ratan-tata-sons-chairman_25_10_2016

मुंबई। टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से सायरस मिस्त्री को अचानक हटाए जाने के बाद जिम्मेदारी संभालने वाले रतन टाटा ने अपने कर्मचारियों को बताया है कि आखिर वह दोबारा इस कुर्सी पर बैठने के लिए क्यों तैयार हुए। कंपनी के पूर्व चेयरमैन रतन टाटा ने कर्मचारियों को चिट्ठी लिखकर कहा कि ग्रुप की स्थिरता और उसमें भरोसा बढ़ाने के लिए वह अंतरिम चेयरमैन की जिम्मेदारी निभाने को तैयार हुए हैं।

पत्र में 78 वर्षीय टाटा ने कहा कि टाटा संस के निदेशक मंडल ने सोमवार को एक बैठक में मिस्त्री को तत्काल प्रभाव से चेयरमैन पद से हटा दिया है। उन्होंने कहा, ‘एक नई प्रबंधकीय व्यवस्था की गई है और टाटा संस के नए चेयरमैन की पहचान करने के लिए एक समिति का भी गठन किया गया है।

वर्ष 2012 में 29 दिसंबर को टाटा संस के चेयरमैन पद से सेवानिवृत्त हो जाने के बाद समूह के मानद चेयरमैन टाटा ने कहा, ‘समिति को इस काम के लिए चार महीने का समय दिया गया है। इस दौरान निदेशक मंडल ने मुझसे कंपनी के चेयरमैन पद की जिम्मेदारी संभालने के लिए कहा है और मैं टाटा समूह की स्थिरता एवं उसमें उसके प्रति विश्वास को बनाए रखने के लिए यह जिम्मेदारी उठाने को तैयार हूं।

क्यों संभाली अंतरिम चेयरमैन की जिम्मेदारी

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-