नई दिल्‍ली। खादी इंडिया के कैंलेडर और डायरी को लेकर खुद पीएम भी इससे खुश नहीं है। जानकारी के अनुसार कैलेंडर और डायरी पर तस्‍वीर लगाने के लिए खादी इंडिया ने मंजूरी नहीं ली थी और अब कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री जिम्‍मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई कर सकते हैं। अधिकारियों के अनुसार पीएम इस पूरी घटना से नाराज हैं। एक बड़े अधिकारी के अनुसार यह पहला मामला नहीं है जब बिना इजाजत किसी सरकारी या प्राइवेट एंटिटी की तरफ से पीएम मोदी की तस्‍वीर का उपयोग हुआ हो। पीएम को खुश करने या उनके करीबी दिखने के लिए ऐसा कई बार हो चुका है।

खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के कैलेंडर और डायरी में पीएम मोदी की चरखे पर सूत कातते हुए तस्‍वीर छापने के बाद इसका चौतरफा विरोध शुरू हो गया। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने जहां पीएम के खिलाफ मोर्चा खोल दिया वहीं अन्‍य लोगों ने भी इसे गलत ठहराया था।

हालांकि खादी इंडिया के अधिकारियों का कहना था कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ और इससे पहले भी यह सब किया जा चुका है। पीएम मोदी को खादी का ब्रांड एम्‍बेसडर बताते हुए अधिकारियों ने कहा कि उन्‍होंने खादी को देश-दुनिया में प्रचारित किया है।

कैलेंडर विवाद में मोदी खफा, बिना पूछे छापी गई तस्वीर

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-