air-flights-udaan_20161021_162236_21_10_2016

नई दिल्ली। प्रमुख मार्गों पर यात्रा करने वाले हवाई यात्रियों को जल्द ही अपने 1 घंटे वाले हवाई सफर के लिए 2500 रुपए खर्च करने होंगे। केंद्र सरकार ने इस योजना को क्षेत्रीय संपर्क योजना ‘उड़ान’ के तहत शुरू किया है। सरकार को उम्मीद है कि इस योजना के तहत पहली उड़ान जनवरी में शुरू हो जाएगी। यह अपनी तरह की विश्व में पहली योजना होगी।

केंद्रीय नागर विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू ने बताया कि जनवरी 2017 तक इस योजना के तहत पहली उड़ान का संचालन हो जाएगा। सरकार ने इसी वर्ष जुलाई में इस योजना मसौदा पेश किया था। नागर विमानन सचिव आर एन चौबे ने कहा कि शुल्क से संबंधित नियमों को दो दिनों के भीतर सरकारी राजपत्र में प्रकाशित कर दिया जाएगा, जबकि इस संबंध में आदेश पत्र को महीने के अंत तक जारी कर दिया जाएगा।

  • उड़ान’ (उड़े देश का आम नागरिक) बाजार तंत्र पर आधारित होगी।
  • विमान में कम से कम 9 सीटें और अधिकतम 40 सीटें हो सकती हैं।
  • विमान की 50 फीसद सीटें ‘उड़ान’ किराये के तहत रिजर्व होंगी जिसका किराया 2500 रुपए होगा और बाकी 50 फीसद सीटें बाजार आधारित मूल्य के अनुसार होंगी।
  • इस समय देश में 394 विमान सेवाओं से वंचित एयरपोर्ट हैं, वहीं 16 एयरपोर्ट ऐसे हैं जहां सेवाएं कम हैं।
  • उद्देश्य घरेलू विमानन क्षेत्र को प्रोत्साहन देना है, जो यात्रियों की संख्या के लिहाज से 20 प्रतिशत वृद्धि दर्ज कर रहा है।
  • योजना के बारे में नागर विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने बताया, ‘यह अपने आप में पहली वैश्विक योजना है….हम ऐसा कर रहे हैं जो पहले कभी नहीं हुआ है।’ इस योजना के तहत एक घंटे की उड़ानों के लिए किराया 2,500 रुपए (टैक्स सहित) होगा।

 

 

केवल 2500 रु. में ले सकेंगे हवाई सफर का आनंद

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-