नई दिल्ली। फ्रांस ने लश्‍कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्‍मद जैसे आतंकी संगठनों के खिलाफ निर्णायक एक्‍शन पर जोर दिया है जो पाकिस्‍तान में रहकर लगातार भारत को निशाना बना रहे हैं। साथ ही संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में मसूद अजहर को आतंकी घोषित करवाने के लिए नई दिल्‍ली के साथ काम करने की बात भी कही है।

फ्रांस के विदेश मंत्री जीन मार्क रॉल्ट ने चीन का नाम लिए बगैर कहा कि जिस तरह से कुछ देश मसूद अजहर को आतंकी करार देने के प्रस्ताव पर रोड़े अटका रहें हैं वो सही नहीं है।

उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में फ्रांस पूरी तरह से भारत के साथ है। आतंकवाद के मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय को एक जैसी भूमिका में रहना चाहिए। आतंकवाद के खिलाफ दोहरा मानदंड नहीं अपनाया जा सकता है। जीन मार्क ने कहा कि ये हास्यास्पद है कि हम आतंकवाद को अपने अपने ढंग से व्याख्या करें।

कुछ देश मसूद अजहर को आतंकी करार देने के प्रस्ताव पर रोड़े अटका रहें

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-