आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने पद्मावती मामले पर अपने मन की बात कहने के लिए एक वीडियो पोस्ट किया। इसमें उन्होंने कई विभिन्न कविताओं के जरिए पद्मावती की पूरी कहानी बयां की। इसमें वह पद्मावती के मुद्दे पर उस धड़े के पक्ष में खड़े नजर आए जिसने संजय लीला भंसाली को फिल्म बनाने से रोकना चाहा था और उनकी पिटाई कर दी थी। कुमार विश्वास अपनी कविता में कहते हैं, ‘अगर आप लोग अपने इन प्रसंगों को अपनी पीढ़ियों तक नहीं पहुंचाएंगे, तो ये जो जमूरे हैं ये जो जाहिल हैं, जिन्होंने कुछ पढ़ा नहीं है, जाना नहीं है, मिट्टी से प्रेम नहीं किया है, 19वें माले पर बैठकर इस देश के इतिहास, इस देश की संस्कृति की बात करते रहेंगे। ये फिर चाहे मुंबई में बैठें हो या फिर कहीं और। आप ही इनसे नाराज होंगे। इसलिए ज्यादा जरूरी है कि इनपर ध्यान देने की बजाए आप अपनी पीढ़ी को यह इतिहास सिखाए, इस बलिदान के बारे में बताएं।

कुमार विश्वास ने यह भी बताया कि वह अपने परिवार को लेकर चार-पांच दिन राजस्थान के हल्दीघाटी वगैरह जाते हैं। विश्वास ने यह भी कहा कि सबको एक बार कुंभलगढ़ के उस छोटे से कक्ष में जाना चाहिए जिसमें महाराणा प्रताप पैदा हुए थे। कुमार विश्वास ने यह भी कहा कि लोगों को बैंकॉक, हांगकांग, लॉस वेगस की जगह राजस्थान जाना चाहिए। अंडमान जाकर उस बंदूक को देखना चाहिए जो चंद्रशेखर ने चलाई थी।

कुछ जाहिल 19वीं मंजिल पर बैठकर संस्कृति की बात करते हैं : कुमार विश्वास

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-