गाजियाबाद। मोदी ने फिर कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी लड़ाई हर हाल में जारी रहेगी। इस लड़ाई में उन्हें उत्तर प्रदेश की जनता का साथ चाहिए। कहा कि इस लड़ाई में सहयोग कर रहे लोगों व व्यापारियों के पास आयकर अफसर सीधे न जाकर सिर्फ ई-मेल के जरिए अपनी शंकाओं का समाधान मांगें।

कमला नेहरू नगर की चुनावी जनसभा में मोदी ने जोर देकर कहा कि कालेधन के खिलाफ मेरी लड़ाई बड़े-बड़े लोगों के खिलाफ है। आम लोग और छोटे व्यापारी मेरे एजेंडे में नहीं हैं। जिस तरह कर्नाटक में कांग्रेस के एक मंत्री के यहां से डेढ़ सौ करोड़ रुपये निकाले गए हैं, वैसे ही एक-एक करके उन लोगों से हिसाब लिया जाएगा, जिन्होंने बड़े पदों पर बैठकर बड़ी लूट की है। कुछ लोग कुप्रचार कर रहे हैं कि ये लड़ाई व्यापारियों के खिलाफ है जबकि व्यापारियों से इसका कोई लेना-देना नहीं है। व्यापारियों व उद्यमियों को राहत देते हुए मोदी ने कहा कि आयकर विभाग को साफ कह दिया गया है कि किसी भी शंका पर अधिकारी खुद नहीं जाएंगे। सिर्फ मेल करेंगे और मेल से ही जवाब लेंगे। जवाब नहीं आता तो दोबारा मेल करेंगे।

उन्होंने जोर देकर कहा कि सरकार किसी भी तरह की सौदेबाजी नहीं होने देगी। कालेधन के खिलाफ मेरी लड़ाई से कई लोग बेचैन हैं। गरीबों को जिन्होंने भी लूटा है, उन्हें छोड़ा नहीं जाएगा। लूट के पैसे को वापस निकलवा कर ही दम लिया जाएगा।

ये ही प्रदेश था, ये ही पुलिस थी और ये ही जनता थी जब भाजपा के मुख्यमंत्री कल्याण सिह और राजनाथ सिह के शासन में बदमाश या तो जेल चले गए या फिर प्रदेश छोड़कर भाग गए।

कहा कि अखिलेश यादव इतने डरे हुए हैं कि जो भी मिला उसी से गठबंधन कर लिया। कांग्रेस ने तो पूरा देश डुबो दिया है। ये अखिलेश की पार्टी को भला क्या किनारा देगी। सरकार में आने से पहले अखिलेश भ्रष्टाचार पर रोक की बात करते थे मगर मायावती के प्रिय एक अफसर से सरकार आते ही उन्हें भी मोहब्बत हो गई। चुटकी लेते हुए कहा कि अब कहां गए वो अफसर? भूल गए कि यहां मोदी भी है। भूल गए कि यहां सीबीआइ भी है। अब वो अफसर जेल में पड़ा है। मोदी ने कहा कि ऐसे सब भ्रष्टाचारी जेल जाएंगे। इसके लिए प्रदेश की जनता का आशीर्वाद चाहिए।

कालेधन के खिलाफ मेरी लड़ाई बड़े-बड़े लोगों के खिलाफ है: मोदी

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-