कानपुर की ग्रामीण और शहरी 10 विधानसभा सीटों पर करीब 100 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला करीब 15 लाख महिलायें करेंगी। इन दस सीटों पर कुल 33 लाख 17 हजार मतदाताओं में 15 लाख 18 हजार महिलायें है। करीब आधी महिलायें होने के बावजूद बड़ी पार्टियों सपा, भाजपा, बसपा और कांग्रेस ने केवल दो महिला प्रत्याशियों को चुनाव के मैदान में उतारा है। निर्वाचन कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, शहर की दस विधानसभा सीटों में कुल 33 लाख 70 हजार 113 मतदाता है। इनमें से 15 लाख 18 हजार 757 महिला मतदाता हैं। सबसे ज्यादा करीब एक लाख अस्सी हजार महिला मतदाता महाराजपुर विधानसभा सीट पर तथा सबसे कम एक लाख 22 हजार महिला मतदाता सीसामऊ सीट पर हैं। महिला और पुरुष मतदाताओं की तुलना करें तो महिलाओं की संख्या पुरुषों की तुलना में सिर्फ तीन लाख 33 हजार 392 कम है।

महिलाओं की संख्या लगभग आधी होने के बाद भी शहर की कल्याणपुर सीट से भारतीय जनता पार्टी ने जबकि महाराजपुर से समाजवादी प्रत्याशी ने महिला प्रत्याशी को मैदान में उतारा है अन्य किसी पार्टी ने आधी आबादी को उनका हक देने में दिलचस्पी नही दिखाई है। वैसे जिला प्रशासन इन महिलाओं को जागरूक करने और वोट डालने के लिये घर से निकालने के अनेक कार्यक्रम बना रहा है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के मुताबिक शहर के महिला इंटर डिग्री कालेजों में और कॉलोनियों में महिला मतदाताओं को जागरूक करने के कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं। महिलाओं को मतदान की पर्चियां घर घर भेजी जायेंगी ताकि अधिक से अधिक महिला मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सकें।

कानपुर विकास प्राधिकरण (केडीए) की उपाध्यक्ष जयश्री भोज, जो एक महिला आईएएस अधिकारी हैं, वह स्वयं अपने विभाग के कर्मचारियों खासकर महिला कर्मचारियों को वोट डालने के लिये प्रोत्साहित कर रही हैं। उन्होंने केडीए में मतदान जागरूकता के पोस्टर बैनर लगवाये हैं। वह कहती है कि महिलाओं को अपने अधिकारों के लिये मतदान करना चाहिए।

कानपुर में 10 सीटों पर आधी आबादी महिलाओं की, सिर्फ दो महिला प्रत्याशी मैदान में

| उत्तर प्रदेश, कानपुर | 0 Comments
About The Author
-