शहर के जाजमऊ के केडीए कॉलोनी में बुधवार दोपहर बाद एक निर्माणाधीन सात मंजिला इमारत गिरने से 7 मजदूरों के मरने की खबर अभी तक है तथा 17 घायल मजदूर मलबे से निकाले गये है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतकों और घायलों की संख्या बढ़ सकती है, क्योंकि अभी तक यह नहीं पता चल सका है कि इमारत में कितने मजदूर काम कर रहे थे।

कानपुर पुलिस के डीआईजी राजेश मोदक ने बताया कि केडीए कालोनी में एक सात मंजिला भवन का निर्माण हो रहा था कि बुधवार दोपहर बाद इस निर्माणाधीन भवन के ढहकर गिरने लगे। उसमें काम कर रहे मजदूर इमारत के मलबे में दब गये। उन्होंने बताया कि अभी तक 7 मजदूरों के शव बाहर निकाले गये है तथा करीब 17 घायल मजदूरों को मेडिकल कॉलेज के हैलट अस्पताल और काशीराम ट्रामा सेंटर भेजा जा चुका है। राहत और बचाव कार्य जारी है और सेना को भी बुला लिया गया है।

स्थानीय लोगों के मुताबिक यह निर्माणाधीन इमारत समाजवादी पार्टी के नेता महताब आलम की है लेकिन इसकी किसी अधिकारी ने पुष्टि नहीं की है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा कि इस इमारत के मलबे में अभी कम से कम तीस मजदूर फंसे हो सकते है। राहत और बचाव के लिये एनडीआरएफ की टीम को भी बुलाया जा रहा है। इस घटना में मरने वालों की संख्या भी बढ़ सकती है।

घटनास्थल के आसपास डॉक्टरों की टीम तथा एंबुलेंस लगी हुई है जो मलबे से निकलने वाले मजदूरों को तुरंत अस्पताल पहुंचा रही है। अस्पताल में डॉक्टरों को एलर्ट पर रखा गया है। उन्होंने बताया कि इस मामले में जिम्मेदार होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी। डीएम ने घटना की मजिस्ट्रेटी जांच कराने की बात भी कही है। मलबा हटाने के लिये जेसीबी मशीनों का इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह पता लगाने की भी कोशिश की जा रही है इस इमारत के निर्माण के लिये केडीए से नक्शा पास कराया गया था या नहीं।

कानपुर में इमारत ढहने से 7 की मौत

| उत्तर प्रदेश, कानपुर | 0 Comments
About The Author
-