लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव प्रदेश में दोबारा सत्ता में आने के प्रति आश्र्वस्त अपने पांच साल के कामकाज को लेकर आत्मविश्र्वास से भरे नजर आते हैं। उनका मानना है कि कांग्रेस से हुए गठबंधन ने समाजवादी पार्टी को और मजबूत किया है। वह इस बात पर जोर देते हैं कि उन्होंने यूपी को विकास की पटरी पर डाला है और जनता इसे देख रही है। अपने व्यस्त चुनावी दौरे के बीच ही समय निकालकर मुख्यमंत्री अखिलेश ने बातचीत शुरू की तो सिलसिला प्रदेश के पुराने हालातों से निकालकर आगे की संभावनाओं तक बढ़ता गया। वह बोले, “भाजपा और बसपा दोनों ही सपा से घबराए हुए हैं, क्योंकि हमने काम किया है। युवाओं को नौकरियां दी हैं और कर्मचारियों को बिना भेदभाव प्रोन्नाति दी है।”

उनके मुताबिक, सूबे में महिलाएं सुरक्षित हैं। उनके लिए वूमेन पावर लाइन है। “सड़कें लोग देख ही रहे हैं, आगरा एक्सप्रेस-वे तो मील का पत्थर है। मेट्रो का काम भी तेज है। उतना काम हुआ है यूपी में जितना आजादी के बाद कभी नहीं हुआ।” साथ ही वह सवाल भी दागते हैं, “आप बताओ, किसने इतना काम किया।”

पांच सालों के शासन ने युवा मुख्यमंत्री को और परिपक्व किया है। इसीलिए वह कुनबे की कलह पर बात करते हुए रंचमात्र भी नहीं हिचकते लेकिन, पटाक्षेप भी जल्द ही कर देते हैं, “हम अब उससे आगे आ गए हैं। अब चुनाव पर पूरा ध्यान है।” कानून व्यवस्था को लेकर विपक्ष के आरोपों पर वह पलटवार करते हैं कि यह भाजपा द्वारा फैलाया जा रहा भ्रम है क्योंकि सपा सरकार ने तो पुलिस व्यवस्था में बड़े सुधार किए हैं। फिर वह उन्हें गिनाने भी लगते हैं कि यूपी 100 पर सिर्फ अस्सी दिनों में साढ़े चार लाख शिकायतें आईं।

 

कांग्रेस से हुए गठबंधन ने समाजवादी पार्टी को और मजबूत किया

| उत्तर प्रदेश, लखनऊ | 0 Comments
About The Author
-