विदेश मंत्री सुषमा स्वराज यूएस में फंसे एक भारतीय शख्स के बचाव में सामने आई हैं। उन्होंने ट्वीट करके परामन राधाकृष्णन की मदद के लिए कहा। 53 साल के राधाकृष्णन बिजनेसमैन हैं। वह गुजरात के रहने वाले हैं। उन्हें ग्रेंड फोर्क्स इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर शनिवार को बम की अफवाह फैलाकर माहौल बिगाड़ने के आरोप में पकड़ा गया। राधाकृष्णन पर आरोप है कि उन्होंने टिकट एजेंट से कहा था कि उनके बैग में एक विस्फोटक है। इस बात के लिए अब उनपर आतंकवादी गतिविधियों से जुड़ी धाराएं लगा दी गई हैं साथ ही उन्हें पकड़ भी लिया गया है। इसपर सुषमा स्वराज ने यूएस में भारत के दूत से रिपोर्ट मांगी है।

राधाकृष्णन कांग्रेस नेता और सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल के दोस्त हैं। उन्होंने और कुछ बाकी बिजनेसमैन लोगों ने भी सुषमा से मदद मांगी है। उन लोगों ने सुषमा से कहा है कि राधाकृष्णन को फर्जी केस में फंसाया जा रहा है।

राधाकृष्णन एक हफ्ते के लिए बिजनेस ट्रिप पर यूएस गए थे। उन्हें वापस आने के लिए फ्लाइट लेने के दौरान ही पकड़ लिया गया। पुलिस को सूचना मिली थी कि किसी शख्स (राधाकृष्णन) ने किसी टिकट एजेंट को कहा था कि उसके बैग में बम है। इससे एयरपोर्ट पर अफरातफरी मची गई थी। हालांकि, बम विरोधी दस्ते को वहां से कुछ नहीं मिला और एयरपोर्ट का माहौल फिर से शांत हो गया था।

कांग्रेस नेता ने सुषमा स्वराज से मांगी मदद

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-