mehoob_mufti_2016827_115311_27_08_2016

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कश्मीर के हालात पर शनिवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुलाकात की।

मुलाकात के बाद पत्रकारों को जानकारी देते समय महबूबा भावुक हो गईं। उन्होंने कहा, पाकिस्तान हमारे युवाओं को भड़काना बंद करे।

बकौल महबूबा, अलगाववादियों को आगे आना चाहिए ताकि कश्मीर के निर्दोष और गरीब युवाओं की जिंदगियां बचाई जा सकें। एक मां के रूप में मुझे यह बात परेशान करती है कि लोग अपने छोटे बच्चों को पुलिस और सेना पर पत्थर फेंकने के लिए घर से भेज देते हैं।

मोदी के बारे में मेहबूबा ने कहा, कश्मीर के हालात पर जितनी हमें तकलीफ है, उन्हें (मोदी) भी उतनी ही तकलीफ है। मोदीजी ने बड़ा कदम उठाया, राजनाथ सिंह ने बड़ा कदम उठाया, दोनों पाकिस्तान गए, लेकिन पड़ोसी मुल्क अपनी हरकतों से बाज नहीं आया।

यह भी बोलीं मेहबूबा

-अगर घाटी के हालात से निपटने के लिए मैं कर्फ्यू नहीं लगाती तो और क्या करती। मैं राज्य में हालात को सामान्य बनाने के लिए पूरी तरह प्रयास कर रही हूं। मेरी अपील है कि राज्य की भलाई के लिए लोग मुझमें अपना भरोसा दिखाएं।

-पीएम घाटी के हालात से चिंतित हैं। वो चाहते हैं कि इस मामले में जल्द से जल्द समाधान खोजा जाए। जम्मू-कश्मीर में शांति स्थापित करना ही पीडीपी और भाजपा का लक्ष्य है।

-पाक युवकों बरगलाने से बाज आए। हमारे युवाओं को उकसाना बंद करे। अगर पाकिस्तान में इंसानियत है तो वो इस तरह की हरकत न करे। पाकिस्तान में गृहमंत्री राजनाथ सिंह के साथ व्यवहार हुआ वो गलत था। पाकिस्तान ने बातचीत के एक बेहतरीन मौके को खो दिया।

– वाजपेयी सरकार की सराहना करते हुए महबूबा ने कहा कि वो सरकार इस समस्या को सुलझा सकती थी।

इस मीटिंग में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी मौजूद थे। पीएम से मुलाकात के बाद महबूबा दूसरे केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात करेंगी।

गौरतलब है कि आतंकी बुरहान वानी के सफाए के बाद कश्मीर घाटी के अलग अलग हिस्सों में पिछले 50 दिनों से हिंसा और कर्फ्यू जारी है। गृहमंत्री के मिशन कश्मीर दौरे के समय पुलवामा में सुरक्षाबलों से झड़प के बाद एक युवक की जान चली गयी थी।

 

कश्मीरी युवाओं को न भड़काए पाक

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-