नई दिल्ली। चुनाव आयोग कभी भी यूपी समेत देश के पांच राज्‍यों में चुनाव तारीखों का ऐलान कर सकता है।खबर है कि बुधवार को आयोग उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में विधानसभा चुनावों की तारीख तय कर सकता है।

पिछले कुछ दिनों से इन राज्यों में राजनीतिक पार्टियां अपनी-अपनी ताकत दिखाने में जुटी हुई हैं। उधर मणिपुर में आर्थिक नाकेबंदी के कारण हालात खराब हैं, अब देखना यह होगा कि क्या चुनाव आयोग अन्य 4 राज्यों के साथ यहां भी चुनाव तारीखों की घोषणा करता है या नहीं।

बता दें कि इन विधानसभा चुनाव की तैयारियों की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। उधर केंद्रीय केंद्रीय गृह मंत्रालय पहले ही उत्तर प्रदेश सहित पांचों राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के दौरान तैनाती के लिए करीब 85,000 सुरक्षाकर्मी देने की बात कर चुका है।

इससे पहले चुनाव आयोग ने सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल एवं रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष के साथ बैठक करके चुनाव की तैयारियों की समीक्षा की।

आयोग ने मार्च में होने वाली बोर्ड की परीक्षाओं को देखते हुए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड और राज्यों के बोर्ड के साथ भी विचार-विमर्श किया है। चुनाव तारीखों की घोषणा करते समय इस तरह के सभी पहलुओं को ध्यान में रखा जाएगा और उसके बाद ही फैसला लिया जाएगा।

चुनाव आयोग के साथ हुई उच्च स्तरीय बैठक में गृह सचिव राजीव महर्षि के नेतृत्व में मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों ने यह अवगत कराया कि पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव को सुचारू रूप से संपन्न कराने के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की करीब 750 कंपनियां प्रदान की जाएंगी।

बता दें कि चुनाव आयोग ने गृह मंत्रालय से विधानसभा चुनावों के दौरान तैनाती के लिए एक लाख सुरक्षाकर्मियों की मांग की थी। गृह मंत्रालय ने 85 हजार सुरक्षाकर्मी देने की बात की है। अर्धसैनिक बलों के अलावा राज्यों के पुलिस बल भी चुनाव ड्यूटी पर तैनात किए जाएंगे।

कभी भी हो सकती है यूपी समेत देश के पांच राज्योंु में चुनाव तारीखों का ऐलान

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-