west_bengal_elections

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के लिए शनिवार को पांचवें चरण का मतदान जारी है। इस चरण में 53 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त करते हुए 90,000 सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं।

इस चरण में सभी की नजरें दक्षिण कोलकाता का भवानीपुर विधानसभा सीट पर टिकी है, जहां से मुख्यमंत्री और णमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी, पूर्व केंद्रीय मंत्री दीपा दासमुंशी (कांग्रेस) और नेताजी सुभाष चंद्र बोस के प्रपौत्र चंद्र कुमार बोस (भाजपा) के खिलाफ खड़ी हैं।

कोलकाता पुल हादसा, शारदा घोटाला, तृणमूल कांग्रेस के विधायकों का स्टिंग, औद्योगिक विकास का थमना, किसानों और श्रमिक की बदतर हालत, राजनीतिक हिंसा।

पांच खास बातें

  1. वामदल और कांग्रेस पश्चिम बंगाल के पहले आम चुनाव यानी 1952 से एक दूसरे के खिलाफ लड़ते आए हैं। पहली बार साथ हैं।
  2. बिहार में भाजपा का साथ देने वाली राम विलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी यहां अपने बूते चुनाव लड़ रही है। पार्टी ने दो किन्नर प्रत्याशियों को तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ उतारा है।
  3. वामदलों की जिम्मेदारी हाल ही में महासचिव चुने गए सीताराम येचुरी के कंधों पर है। उन्हें कांग्रेस को साथ लेकर चलना पड़ रहा है।
  4. नेताजी सुभाष चंद्र बोस का परिवार पहली बार खुलकर चुनौती मैदान में हैं।
  5. दु टका किलो चाल (दो रुपये किलो चावल) के नारे के साथ ममता दीदी अपने वोटरों को लुभाने में लगी हैं।

 

 

कड़ी सुरक्षा के बीच पश्चिम बंगाल में 5वें चरण का मतदान जारी

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-