नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों से समूचे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। कोहरे के कारण सड़क, रेल और हवाई यातायात पहले से बाधित है। मौसम विभाग के मुताबिक, पहाड़ों पर बर्फबारी जारी रहेगी, लेकिन मैदानी इलाकों में बारिश से परेशानियां बढ़ सकती हैं। 15 तथा 16 जनवरी को उत्तर भारत समेत अन्य राज्यों में बारिश का अनुमान है।

उत्तराखंड के कई इलाकों में पानी जमने से पाइप लाइनें फटने लगी हैं। वहीं हिमाचल में लगातार हो रही बर्फबारी से न केवल बिजली-पानी का संकट गहरा गया है बल्कि कुल्लू की वह सरेयोलसर झील भी जम जुकी है जिसमें मकर संक्रांति के दिन डुबकी लगाई जाती है।

वहीं श्रीनगर में पिछले चौबीस घंटे का न्यूनतम तापमान -6.8 डिग्री सेल्यसियस दर्ज किया गया है। जो पांच वर्षो में जनवरी माह के दौरान सबसे कम न्यूनतम तापमान है। जम्मू में लोहड़ी की रात इस सीजन की सबसे ठंडी रात रही। रात का न्यूनतम तापमान 3.1 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। ऊधमपुर में न्यूनतम तापमान -1.4 डिग्री सेल्सियस जा पहुंचा। लेह में रात का न्यूनतम तापमान -14 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

कड़ाके की ठंड के बाद अब होने वाली है बारिश

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-