index

डोनाल्ड ट्रम्प और बराक ओबामा 11 नवंबर को व्हाइट हाउस की बैठक से पहले कभी नहीं मिले थे। भले ही वे एक दूसरे के साथ सीधे संपर्क में नहीं आए थे, लेकिन लंबे समय से एक दूसरे की बेइज्जती कर रहे थे।

ओबामा ने इस दौरान ट्रंप का जमकर अपमान किया, जिसके बाद में ट्रंप ने अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए नामांकन स्वीकार कर लिया। एक बार ट्रंप ने टेलीविजन पर ओबामा का अपमान किया था और उसके ‘जन्म स्थान’ पर सवाल उठाया था।

उन्होंने कहा था कि अगर ओबामा यहां पैदा नहीं हुए हैं, तो उन्हें अमेरिकी राष्ट्रपति बनने की इजाजत नहीं है। यह घटना वर्ष 2011 में हुई थी। बराक ओबामा भी इस बयान के बाद कहां चुप बैठने वाले थे।

ओबामा ने व्हाइट हाउस के करेस्पॉन्डेंट डिनर में डोनाल्ड ट्रंप को आमंत्रित किया। साल 2011 की सबसे ग्लैमरस रात को पत्रकारों और हजारों मेहमानों के सामने ओबामा ने डोनाल्ड ट्रम्प को अपमानित कर और बदला लेने के लिए इस मौके का उपयोग किया।

यह एक सरल बदला भर नहीं था। ट्रंप जीवनभर इसे भूल नहीं पाएंगे। इसी कारण है कि डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए नामांकन स्वीकार कर लिया था। दरअसल, वह ओबामा को साबित करके दिखाना चाहते थे कि वह कुछ भी कर सकते हैं। आप भी सुनिए उस रात को ओबामा ने क्या कहा था।

ओबामा ने की थी ट्रंप की ऐसी बेइज्जती

| देश विदेश | 0 Comments
About The Author
-