देशभर में दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से कोर्स कराने वाला इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) 2016-17 सत्र से अनुसूचित जाति (एससी), अनुसूचित जनजाति (एसटी) और आदिवासी वर्ग के छात्रों को बीए, बीकॉम, बीएससी सहित छह कोर्स में फ्री में एडमिशन देगा। इन छात्रों से सिर्फ परीक्षा शुल्क लिया जाएगा।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के बाद इस संबंध में इग्नू ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। परीक्षा शुल्क जमा कराने में देरी पर लेट फीस भी इन छात्रों से नहीं ली जाएगी। इस नोटिफिकेशन में बीए, बीएससी, बीकॉम के अलावा बैचलर इन सोशल वर्क, बैचलर इन टूरिज्म स्टडी और बीसीए कोर्स शामिल हैं।

इग्नू प्रति पेपर 120 रुपये परीक्षा शुल्क छात्रों से ले रहा है। अंडर ग्रेजुएट (यूजी) स्तर पर तीन से पांच पेपर प्रति वर्ष होते हैं। पीजी कोर्स, पीजी डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स पर इग्नू की तरफ से कोई छूट का प्रावधान नहीं रहेगा। देश में एससी-एसटी के विकास और इग्नू से बड़ी संख्या में छात्रों को जोड़ने की सोच के चलते यह निर्णय लिया गया है।

इग्नू के सहायक क्षेत्रीय निदेशक डॉ. राममूर्ति मीना ने बताया कि राजस्थान में आठ हजार से अधिक और देशभर में करीब 30 लाख छात्र इग्नू से जुड़े हुए हैं।

 

एससी, एसटी को फ्री में ग्रेजुएशन में दाखिला देगा इग्नू

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-