index

नई दिल्ली। एनडीटीवी इंडिया चैनल पर बैन का विरोध पूरे देश में हो रहा है। पत्रकारों से लेकर राजनीतिक दलों के नेता भी सरकार के फैसले का विरोध कर रहे हैं। इस बीच खबर है कि सोमवार को एनडीटीवी इंडिया ने बैन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

एनडीटीवी इंडिया पर एक दिन के प्रसारण की रोक का मुद्दा गर्म ही था कि दो और चैनलों पर रोक की खबर आ गई। NDTV इंडिया पर आरोप था पठानकोट हमले की कवरेज में संवेदनशील जानकारी देने का तो ‘न्यूज टाइम असम’ पर कई बार प्रसारण संबंधी दिशा-निर्देशों के उल्लंघन का आरोप है।

वहीं आपत्तिजनक कटेंट को लेकर ‘केयर वर्ल्ड टीवी चैनल’ को 7 दिन के लिए बंद करने का निर्देश दिया गया है।

सरकार जहां बैन के फैसले को पलटने को तैयार नहीं वहीं विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार को घेर रही हैं एनडीटीवी इंडिया 9 नवंबर को एक दिन के लिए बैन किया गया है। पत्रकारों के तमाम संगठनों ने चैनल बैन के खिलाफ आवाज बुलंद की है लेकिन सरकार इस मामले को लेकर झुकने को तैयार नहीं है।

 

एनडीटीवी इंडिया ने बैन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-