हैदराबाद। हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन (एचसीए) ने अध्यक्ष पद के लिए अजहर के नामांकन को रद्द कर दिया।

हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन ने अजहर का नामांकन क्यों रद्द किया अभी इसकी वजह का खुलासा नहीं किया गया है। अजहर ने अपना नामांकन रद्द होने पर निराशा जताई। उन्होंने कहा, मुझे जब हाईकोर्ट से बरी कर दिया गया है तो फिर मेरा नामांकन क्यों रद्द किया यह समझ से बाहर है।

मैच फिक्सिंग के बेहद गंभीर आरोपों के चलते बीसीसीआई से आजीवन प्रतिबंधित किए गए अजहरुद्दीन ने मंगलवार को हैदराबाद क्रिकेट संघ (एचसीए) के अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल किया था। दिलचस्प है कि बीसीसीआई का हिस्सा बनने की अजहर की दावेदारी उस समय सामने आई है जब आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग और आर्थिक अनियमितताओं के चलते बीसीसीआई सुप्रीम कोर्ट के निशाने पर है।

बीसीसीआई के कामकाज में सुधार और पारदर्शिता के लिए सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस लोढ़ा के नेतृत्व में एक समिति बनाई हुई। इन समिति की सिफारिशों को लागू करने में नानुकुर के चलते ही बीसीसीआई के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव को अपनी कुर्सी भी गंवानी पड़ी।

अजहरुद्दीन ने नामांकन भरने के बाद कहा था, ‘हैदराबाद के साथ समस्या यह है कि क्रिकेट पर ध्यान नहीं है। रणजी ट्रॉफी में हम नीचे से दूसरे स्थान पर रहे। मेरी इच्छा है कि हैदराबाद में एक बार फिर क्रिकेट फले फूले। मैं क्रिकेट के लिए सचमुच अच्छा करना चाहता हूं।’

एचसीए ने अध्यक्ष पद के लिए अजहर के नामांकन को रद्द किया

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-