hafiz_25_10_2016

नई दिल्‍ली। उरी में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्‍तान भले ही उसमें अपने देश में पल रहे आतंकियों का हाथ होने से इन्‍कार करता रहा हो लेकिन अब सच दुनिया के सामने आ गया है।

खबरों के अनुसार पाकिस्‍तान के आतंकी संगठन लश्‍कर-ए-तैयबा ने उरी में सेना के हेडक्‍वार्टर पर हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली है। लश्‍कर ने यह जिम्‍मेदारी कुछ पोस्‍टर्स के माध्‍यम से ली है जो उसने पाकिस्‍तान के गुजारांवाला इलाके में लगाए हैं।

इस पोस्‍टर्स में हमले की जिम्‍मेदारी लेने के अलावा उस दौरान मारे गए एक आतंकी के लिए नमाज के आयोजन की भी जानकारी दी गई है। यह नमाज लश्‍कर के सरगना हाफिज सईद की मौजूदगी में पढ़ी जाएगी।

बता दें कि 18 सितम्बर 2016 को जम्मू और कश्मीर के उरी सेक्टर में एलओसी के पास स्थित भारतीय सेना के स्थानीय मुख्यालय पर बड़ा आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे। हमले का जवाब देते हुए सैन्य बलों की कार्रवाई में सभी चार आतंकी मारे गए थे।

यह भारतीय सेना पर किया गया लगभग 20 सालों में सबसे बड़ा हमला था। आतंकी हमले के बाद सबूत मिले थे कि यह हमला पाकिस्‍तानी आतंकियों द्वारा किया गया था। भारत ने इसका जवाब देते हुए पीओके में सर्जिकल स्‍ट्राइक भी की थी।

 

 

 

उरी आतंकी हमले की लश्कर-ए-तैयबा ने ली जिम्मेदारी

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-