upvidhansabha_2016823_13309_23_08_2016

लखनऊ। यूपी विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन विपक्ष ने भारी हंगामा किया। बीएसपी-बीजेपी और कांग्रेस विधायकों ने सदन में बैनर पोस्टर लहराए गए हंगामा किया जिसके बाद विपक्षी विधायकों को सदन से निकाल दिया गया। इसके लिये मार्शलों का प्रयोग किया गया विपक्ष के लोग गैंगरेप,दलित अत्याचार का मुद्दा उठा,बीएसपी के सदस्य वेल मे आए।

सदन से बाहर निकाले जाने के विरोध में बीएसपी-बीजेपी-कांग्रेस विधायक विधानसभा के गलियारे में धरने पर बैठे हैं। बिना विपक्ष के चल रही की कार्रवाई,सदन से सम्पूर्ण विपक्ष को बाहर किया गया,सदन में सिर्फ सत्ता पक्ष के लोग मौजूद।

दरअसल आज मुख्यमंत्री अखिलेश यादव दोपहर 12.20 बजे विधानसभा में चालू वित्तीय वर्ष के लिए सरकार का अनुपूरक बजट पेश करेंगे। अनुपूरक बजट का आकार लगभग 25 हजार करोड़ रुपये होने की संभावना है।

चुनावी साल के इस अनुपूरक बजट के जरिये अखिलेश सरकार जहां सड़कों को बनाने व उन्हें दुरुस्त करने के लिए संसाधन जुटाएगी, वहीं आपदा से प्रभावित किसानों को राहत देने का भी इंतजाम करेगी।

भाजपा ने अनुपूरक बजट की प्रासंगिकता पर उठाए सवाल

अनुपूरक बजट में सड़कों और पुलों के निर्माण व रखरखाव के लिए लगभग पांच हजार करोड़ रुपये का बंदोबस्त किये जाने की उम्मीद है। ओलावृष्टि व अन्य आपदाओं से प्रभावित किसानों की मदद के लिए ढाई से तीन हजार करोड़ रुपये तक मिलने की उम्मीद है।

नदी सुधार कार्यों के लिए तकरीबन एक हजार करोड़ रुपये की राशि आवंटित किये जाने की संभावना है। समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को अमली जामा पहनाने के लिए भी बजट में बड़ी रकम का इंतजाम होगा।

मुख्यमंत्री ने विधानसभा सत्र चलाने के लिए सहयोग मांगा

लोहिया ग्रामीण आवास योजना के लिए भी अनुपूरक बजट में प्रावधान प्रस्तावित है। अल्पसंख्यकों के लिए चलाये जा रहे मल्टी सेक्टोरल डेवलपमेंट प्रोग्राम के लिए भी सरकार अपना बटुआ खोलेगी। राज्य कर्मचारियों को कैशलेस इलाज की सुविधा देने के लिए भी बजट में धनराशि का इंतजाम किये जाने की संभावना है। उप्र निर्यात अवस्थापना विकास योजना के लिए भी बजट में धनराशि का बंदोबस्त किया जाएगा।

बजट सत्र के अंतिम दिन सीएम का विधायकों को होली का तोहफा

सरकार ने पिछले साल 17 अगस्त को वर्ष 2015-16 के लिए 19824.98 करोड़ रुपए का पहला अनुपूरक बजट पेश किया था। मानसून सत्र में पेश किये जाने वाले इस साल के अनुपूरक बजट का आकार उससे तकरीबन 25 फीसद ज्यादा है। माना जा रहा है कि यह अखिलेश सरकार का आखिरी अनुपूरक बजट होगा।

उप्र विधानसभा :धक्के मारकर निकाले गये विपक्षी विधायक

| उत्तर प्रदेश, लखनऊ | 0 Comments
About The Author
-