disaster-in-uttarakhand_1467383630

राज्य में मानसून ने दस्तक देने के साथ ही भारी तबाही मचा दी है। राज्य के विभिन्न इलाकों खासकर पिथौरागढ़ और चमोली में गुरूवार-शुक्रवार की रात में हुई भारी बारिश के चलते जहां अलग अलग इलाकों में 17 लोगों की मौत हो गई, वहीं कई लोग लापता बताए जा रहे हैं।

 

पिथौरागढ़ के बस्तड़ी में शुक्रवार देर रात तक सेना और अर्धसैनिक बलों द्वारा चलाए गए रेस्क्यू में आठ लोगों के शव निकाले गए थे। शनिवार सुबह फिर रेस्क्यू शुरू किया गया। हालिया सूचना मिलने तक शनिवार को छह और लोगों के शव मलबे से निकाले गए हैं। जबकि लापता लोगों की संख्या का सही पता नहीं चल पा रहा है। वहीं चमोली में बादल फटने से तीन लोगों के शव बरामद हुए हैं जबकि छह लोग लापता बताए जा रहे हैं।

आफत के बाद लापता लोगों की खोजबीन और राहत कार्यों के लिए सेना के साथ साथ एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, आईटीबीपी, एसएसबी, डीएमएमसी , पुलिस के साथ राजस्व विभा की टीमों को लगाया गया है। राहत कार्यों में तेजी लाने के लिए मंडलायुक्तों को आपदा प्रभावित इलाकों में कैंप करने को निर्देशित करने के साथ ही हेलीकॉप्टर की मदद ली जा रही है लेकिन मौसम की खराबी के चलते हेलीकॉप्टरों के उड़ान में दिक्कतें आ रही है।

उत्तराखंड में बारिश बनी काल, मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 17, कई लापता

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-