pink-ball_1461329355

टेस्ट क्रिकेट में दर्शकों की घटती संख्या को देखते हुए बीसीसीआई ने इस साल दौरा करने वाली न्यूजीलैंड के साथ पहला दिन-रात्रि टेस्ट मैच खेलने का निर्णय किया है।

बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर ने कहा कि हमने निर्णय लिया है कि हम इस साल न्यूजीलैंड के खिलाफ गुलाबी गेंद से एक दिन-रात्रि टेस्ट मैच खेलेंगे। इससे पहले दलीप ट्रॉफी को दिन-रात्रि टेस्ट मैच के ड्रेस रिहर्सल के रूप में लिया जाएगा।

बीसीसीआई हेड क्वार्टर में संवाददाताओं से बातचीत में  ठाकुर ने कहा कि दलीप ट्रॉफी में यह देखा जाएगा कि कूकाबूरा की गुलाबी गेंद कृत्रिम रोशनी में भारतीय उपमहाद्वीप में कैसा बर्ताव करती है। उन्होंने कहा कि कई अन्य चीजों पर भी गौर करने की जरूरत है जैसे ओस का मुद्दा या स्पिनर भारतीय मैदानों पर गुलाबी गेंद से कैसी गेंदबाजी करते हैं। दलीप ट्रॉफी में प्रयोग से इस दिशा में जानकारी हासिल करने में मदद मिलेगी।

हालांकि न्यूजीलैंड क्रिकेट (एनजेडसी) आपरेशंस प्रमुख लिंडसे क्रोकर ने कहा है कि भारतीय टीम के खिलाफ पहले दिन-रात्रि टेस्ट से पहले कई चीजों पर गौर करने की जरूरत पड़ेगी। अभी कई चीजों पर विमर्श करना बाकी है।

क्रोकर ने कहा, “भारत दिन-रात्रि टेस्ट को लेकर काफी उत्साहित है और वह इस विचार को लेकर काफी प्रतिबद्ध भी नजर आता है। हमारे लिए यह काफी उत्साहवर्द्धक होगा कि पहले एशियाई दिन-रात्रि टेस्ट का हिस्सा बने लेकिन अभी हमने उस पर उतना विचार नहीं किया है लेकिन हो सकता है न्यूजीलैंड क्रिकेट के मुख्य कार्यकारी डेविड जोकि इस समय आईसीसी की कांफ्रेंस के लिए दुबई में हैं वह इस विचार को लेकर पूरी तरह अवगत हों। उनकी वहां बीसीसीआई प्रतिनिधि से मुलाकात हो सकती है पर दुबई रवाना होने से पहले डेविड से इस बारे में कोई विचार-विमर्श नहीं हुआ था। कार्यक्रम तय करने से पहले चयनित स्टेडियम, फ्लडलाइट, मैदान की स्थिति और अभ्यास के लिए सुविधाओं पर विचार होना जरूरी है।”

यह भी उम्मीद है कि सभी प्रमुख खिलाड़ी दलीप ट्रॉफी में खेलकर गुलाबी गेंद से खेलने का अनुभव हासिल करेंगे और इस बारे में अपने अनुभव के बारे में बीसीसीआई को अवगत कराएंगे। भारत में टेस्ट मैचों के दौरान एसजी की गेंदों का इस्तेमाल होता है लेकिन इस टेस्ट मैच के लिए कूकाबूरा की गुलाबी गेंद प्रयोग में लाई जाएगी।

दिन-रात्रि टेस्ट क्रिकेट का पहली बार आयोजन पिछले साल एडिलेड ओवल में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच हुआ था। मैच तीन दिन में समाप्त हो गया था जिसमें ऑस्ट्रेलिया तीन विकेट से जीतने में सफल रहा था। पहले दो दिन 25 विकेट गिर गए थे।

आईपीएल की संचालन परिषद इस बारे में विचार करेगी कि क्या 2017 में आईपीएल का आयोजन विदेश में हो सकता है। बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर ने बताया कि संचालन परिषद भारत और विदेशों में मैदान की तलाश कर रही है। हमें मैदानों की उपलब्धता के बारे में देखना होगा।

आईपीएल का आयोजन चुनाव के कारण दो बार विदेश में हो चुका है। 2009 में लीग दक्षिण अफ्रीका और 2014 में पहले 15 दिन के लिए मैच संयुक्त अरब अमीरात में हुए थे। बीसीसीआई के शीर्ष अधिकारी इस बारे में विचार-विमर्श कर रहे हैं इसका पता इस बात से भी चलता है कि चार दिन पहले कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी ने ट्वीट किया था कि जल्द ही आईपीएल देश से बाहर खेली जा सकती है। आईपीएल अपनी शुरुआत से ही एक के बाद एक विवाद में फंसती रही है।

विभिन्न संस्थाओं द्वारा जनहित याचिका (पीआईएल) डाले जाने से भी कार्यक्रम पर असर पड़ा है। पीआईएल डाले जाने पर ही महाराष्ट्र उच्च न्यायालय ने 12 मैचों को जल संकट से पीड़ित महाराष्ट्र से स्थानातंरित किया गया है।

 

इस साल भारत में भी खेला जाएगा डे-नाइट टेस्ट, गुलाबी गेंद से होगा मैच

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-