नई दिल्ली। इसरो नें बुधवार को एक साथ 104 उपग्रहों को अंतरिक्ष में भेजकर इतिहास बना दिया है। इस उपलब्धि पर जहां देश को नाज है वहीं दुनिया भी इसे सलाम कर रही है। अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने इसे लेकर इसरो को बधाई दी है। लेकिन इस सब से चीन जरूर चिढ़ गया है।

चीन के एक अखबार ने इस मिशन को लेकर लिखा है कि यह एक बड़ी उपलब्धि जरूर है लेकिन भारत अब भी अतरिक्ष के मामले में चीन और अमेरिका से पीछे है। लेख में यह भी लिखा है कि कामयाबी का आधार नंबर नहीं होते इसलिए यह एक सिमित कामयाबी कही जा सकती है।

दूसरी तरफ अमेरिकी अखबार जहां वाशिंगटन पोस्ट ने इस लॉन्च पर ‘सलाम इंडिया’ कहते हुए लेख में लिखा है कि यह एक बड़ी कामयाबी है और इतने कम खर्चे में इस कामयाबी को पाना बड़ी उपलब्धि। वहीं सीएनएन ने कहा कि अब अमेरिका बनाम रूस को भूल जाइए क्योंकि मैदान में अब भारत आ चुका है।

गार्जियन ने लिखा कि यह रिकॉर्ड तोड़ मिशन अंतरिक्ष की दुनिया में भारत को नई मजबूती देगा। दि वाल स्ट्रीट जर्नल ने लिखा है कि अंतरिक्ष के क्षेत्र में रूस को भारत ने मात दे दी है।

इसरो की कामयाबी को दुनिया ने किया सलाम

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-