indian_airlines_23_08_2016

नई दिल्ली। भारतीय विमानन कंपनियां पाकिस्तान से होकर गुजरने वाले हवाई मार्ग से उड़ान नहीं भरना चाहती हैं। विमान कंपनियों ने सरकार से मांग कर इन हवाई मार्गों में बदलाव करने की मांग की है।

कंपनियों का कहना है कि पाकिस्तान के हवाई मार्ग से जाना घुमावदार है और मांग की है कि उन्हें पश्चिम भारत (मुख्यत: अहमदाबाद) से उड़ान भरने की अनुमति दी जाए जिससे वह अरब सागर के ऊपर से खाड़ी देशों के लिए रवाना हो सके। इससे उन्हें पाकिस्तानी आसमान का प्रयोग नहीं करना पड़ेगा।

कंपनियों द्वारा इस तरह की मांग का एक प्रमुख कारण भारत-पाकिस्तान के तनावपूर्ण रिश्तों के मददेनजर सुरक्षा की चिंता भी है।

एयर इंडिया, जेट एयरवेज, इंडिगो और स्पाइसजेट जैसी विमान कंपनिया पाकिस्तान के हवाई मार्ग से खाड़ी देशों की उड़ानें संचालित करती हैं। एक एयरलाइन अधिकारी ने बताया, “कुछ दिन पहले भारत ने कुछ पाकिस्तानी नॉन शेड्यूल्ड विमानों को लौटने का आदेश दिया था और ऐसे में विमान कंपनियों को डर है कि पाकिस्तान भी बदले की भावना से ऐसी ही कार्रवाई कर सकता है। इस मांग का एक अन्य कारण है आर्थिक कारक।

स्पाइसजेट ने “फ्लैक्सी-यूज ऑफ एयरस्पेस” के तहत अहमदाबाद से खाड़ी देशों के लिए सीधी उड़ान भरने का अनुमति मांगी है। कंपनी ने कहा है कि उसे वायुसेना और नौसेना की ओर से प्रयोग किए जाने वाले मार्ग पर उड़ान संचालित करने की मजूंरी दी जाए।

रक्षा और नागर विमान मंत्रालयों को भेजी गई अपनी प्रजेंटेशन में स्पाइस जेट ने कहा है, “पाकिस्तानी रूट हटाने से एयरलाइंस का ईंधन बचेगा जिससे कार्बन उत्सर्जन में भी कमी आएगी और इससे वैश्विक पर्यावरण को भी नुकसान नहीं होगा।” कंपनी का कहना है कि यदि स्पाइस जेट की इस मांग को मान लिया जाता है इससे उसकी प्रति उड़ान पर एक लाख रूपये की बचत होगी। रक्षा मंत्रालय ने अभी तक ऐसे किसी भी प्रस्ताव को मंजूरी नहीं दी है, क्योंकि इस हवाई मार्ग पर कई संवेदनशील क्षेत्र पड़ते हैं।

आसमान में जाने से डर रहीं भारतीय एयरलाइन्स

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-