हालांकि आरबीआई ने यह कह सरकार का यह प्रस्ताव ठुकरा दिया कि अगले 15 दिनों में हालात सामान्य हो जाएंगे। आरबीआई ने सरकार को बताया कि 2 से 2.5 लाख करोड़ के अतिरिक्त नए नोट इस वक्त छापा जा रहा है और वद जल्द ही बैंको तक पहुंच जाएगी।

नोटबंदी के पहले देश में 17.50 लाख करोड़ नकदी के रुप में थे, जिनमें 15.50 लाख करोड़ रुपए 500 और 1000 के नोटों की संख्या था, जेकि कुल प्रचलित रकम का 88 प्रतिशत था। फलहाल इस वक्त बैंको के पास 14.50 लाख करोड़ के पुराने नोट हैं। आरबीआई ने इन नोटों की गिनती शुरू कर दी है ताकि जाली नोटों का पता लगाया जा सके।

सरकार के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आरबीआई के पास जाली नोट का पता लगाने के लिए 60 बड़ी मशीनें हैं। अधिकारी ने कहा कि अगर यह सभी मशीनें, दिन में 12 घंटें भी काम करें तब भी इस काम में 600 दिन लगेंगे। ऐसे में आरबीआई इसमें बैंकों को भी शामिल करने पर सोचा जा रहा है ताकि काम जल्दी खत्म हो जाए।

आरबीआई ने नहीं जारी किए 75 हजार करोड़ के नए नोट

| उत्तर प्रदेश | 0 Comments
About The Author
-